नकसीर फूटना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नासा रक्तस्राव
वर्गीकरण व बाहरी संसाधन
Epistaxis1.jpg
अन्य नाम नकसीर
आईसीडी-१० R04.0
आईसीडी- 784.7
रोग डाटाबेस 18327
ई-मेडिसिन emerg/806  ent/701, ped/1618
MeSH C08.460.261

नाक से अचानक रक्त निकलने लगना नासा रक्तस्राव (nosebleed) या 'नकसीर फूटना' कहलाता है। यह रक्त आमाशय में भी जा सकता है जिससे उल्टी जैसा मन हो सकता है या उल्टी भी आ सकती है। कुछ गम्भीर मामलों में दोनों नासाछिद्रों से रक्त निकलता है।

नकसीर फूटने के आम कारण[संपादित करें]

  • गरम और सूखा वातावरण
  • नाक में चोट लगना
  • कठोर गतिविधियां
  • उच्च रक्तचाप
  • अधिक ऊंचाई पर जाना
  • नाक जोर से झाड़ना

संक्रमण के कारण नकसीर का फूटना[संपादित करें]

नकसीर का फूटना संक्रमण के लक्षण भी हो सकता है। इन में यह बीमारियां प्रमुख हैं।

  • हे फीवर (पराग कण से होने वाला एलर्जी)
  • वायरल बुखार
  • डेंगू
  • इबोला रक्तस्रावी बुखार
  • आमवाती बुखार

[1] [2]

प्राथमिक उपचार[संपादित करें]

  • बैठ जाएं
  • सामने की ओर थोड़ा झुकें ताकि खून आपके गले में न जाए
  • नाक पर ठंडा और गीला कपड़ा रखें ताकि रक्त नालिकाओं में संकुचन हो और खून निकलना बंद हो जाए
  • यदि केवल एक नथुने से ही खून निकल रहा हो तो नथुने के ऊपरी भाग को दबाकर रखें
  • फिर भी यदि खून निकलना बंद नहीं हो रहा हो तो और 10 मिनट तक दबाकर रखें
  • यदि चोट की वजह से खून बह रहा हो तो अधिक जोर से न दबाएं
  • यदि खून निकलना बंद ही न हो रहा हो या बार बार खून निकल रहा हो तो डॉक्टर को दिखाएं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 27 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 अप्रैल 2017.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 10 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.