नकसीर फूटना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नकसीर
वर्गीकरण व बाहरी संसाधन
Epistaxis1.jpg
अन्य नाम नोज़ ब्लीड्स, एपिस्टैक्सिस
आईसीडी-१० R04.0
आईसीडी- 784.7
रोग डाटाबेस 18327
ई-मेडिसिन emerg/806  ent/701, ped/1618
MeSH C08.460.261

नकसीर का कारण नासासुरंगों में कहीं पर श्लेष्मल कला में व्रण (ulcer) बनना होता है। इसमें कोई रक्तवाहिका फट जाती है। इसी से रक्त निकलता है। कभी-कभी रक्त की अधिक मात्रा निकलती है। रोग कभी घातक नहीं होता। इसके अलावा नाक से खून बहने के अन्य कारण भी हो सकते हैं।

नकसीर फूटने के आम कारण[संपादित करें]

  • गरम और सूखा वातावरण
  • नाक में चोट लगना
  • कठोर गतिविधियां
  • उच्च रक्तचाप
  • अधिक ऊंचाई पर जाना
  • नाक जोर से झाड़ना

संक्रमण के कारण नकसीर का फूटना[संपादित करें]

नकसीर का फूटना संक्रमण के लक्षण भी हो सकता है| इन में यह बीमारियां प्रमुख हैं|

  • हे फीवर (पराग कण से होने वाला एलर्जी)
  • वायरल बुखार
  • डेंगू
  • इबोला रक्तस्रावी बुखार
  • आमवाती बुखार

[1] [2]

प्राथमिक उपचार[संपादित करें]

  • बैठ जाएं
  • सामने की ओर थोड़ा झुकें ताकि खून आपके गले में न जाए
  • नाक पर ठंडा और गीला कपड़ा रखें ताकि रक्त नालिकाओं में संकुचन हो और खून निकलना बंद हो जाए
  • यदि केवल एक नथुने से ही खून निकल रहा हो तो नथुने के ऊपरी भाग को दबाकर रखें
  • फिर भी यदि खून निकलना बंद नहीं हो रहा हो तो और 10 मिनट तक दबाकर रखें
  • यदि चोट की वजह से खून बह रहा हो तो अधिक जोर से न दबाएं
  • यदि खून निकलना बंद ही न हो रहा हो या बार बार खून निकल रहा हो तो डॉक्टर को दिखाएं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]