ध्वनि अभिलेखन एवं पुनरुत्पादन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Dynamic microphone.jpg

ध्वनि को रिकॉर्ड करना और रिकॉर्ड से पुनः ध्वनि उत्पन्न करने की प्रक्रिया से आशय ध्वनि संकेत (जैसे किसी का भाषण, गीत, वद्य संगीत आदि को किसी माध्यम पर इस प्रकार 'अंकित' कर लेने से है कि उसे पुनः लगभग उसी रूप में प्राप्त भी किया जा सके। रिकॉर्डिंग और पुनः उत्पादन का यह कार्य वैद्युत, यांत्रिक, इलेक्ट्रॉनिक या डिजिटल ढंग से किया जा सकता है। ध्वानि के अभिलेखन (रिकॉर्डिंग) की मुख्यतः दो विधियाँ हैं- एनालॉग रिकॉर्डिंग तथा डिजिटल रिकार्डिंग।