धातुता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

खगोलशास्त्र में धातुता (metallicity) किसी वस्तु में हाइड्रोजनहीलियम से अधिक भारी रसायनिक तत्वों की अधिक मात्रा में उपस्थिति होने की दशा को कहते हैं। हमारे ब्रह्माण्ड का अधिकांश भौतिक पदार्थ हाइड्रोजन और हीलियम के रूप में है जो सबसे हल्के दो तत्व हैं, इसलिए खगोलशास्त्री अक्सर संक्षिप्त रूप में इनके अलावा अन्य सभी तत्वों को "धातु" (metals) कह देते हैं। ध्यान दे कि यह शब्द प्रयोग रसायनशास्त्र में धातु के प्रयोग से बहुत अलग है। मसलन कार्बन, नाइट्रोजन, ऑक्सीजन और नियोन की अधिक मात्रा रखने वाले तारे अक्सर धातुपूर्ण (metal-rich) कहलाते हैं हालांकि यह सभी तत्व रसायनशास्त्र में धातु की परिभाषा में नहीं आते।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Matteucci, Francesca (2001). The Chemical Evolution of the Galaxy. Astrophysics and Space Science Library. 253. Springer Science & Business Media. प॰ 7. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0792365526. https://books.google.com/books?id=PT7O1nS7CksC&pg=PA7. 
  2. Bromm, Volker; Larson, Richard B. (2004). "THE FIRST STARS". Annual Review of Astronomy and Astrophysics 42: 79–118. arXiv:astro-ph/0311019. Bibcode 2004ARA&A..42...79B. doi:10.1146/annurev.astro.42.053102.134034.