द ग्रेट गैम्बलर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चित्र:Collage-2016-07-01 (2).jpg
१९७९ के प्रमुख चित्र द ग्रेट गैम्बलर का पोस्टर।

द ग्रेट गैम्बलर एक हिंदी भाषा की फिल्म है। भारत में इस फिल्म का प्रथम प्रदर्शन सन 1979 में हुआ था। फिल्म के मुख्य कलाकार हैं - अमिताभ बच्चन, जीनत अमान और नीतू सिंह। हिंदी भाषा में 'द ग्रेट गैम्बलर' का अर्थ होता है - महान जुआरी।

कथानक[संपादित करें]

जय (अमिताभ बच्चन) एक बहुत पहुंचा हुआ जुआरी है और आज तक उसने कोई भी बाजी नहीं हारी है। अंडरवर्ल्ड डॉन सक्सेना, जय के सामने प्रस्ताव करता है कि जय उसके लिए खेले। जय उसका प्रस्ताव स्वीकार कर लेता है। एक बार जय के साथ खेलते हुए नाथ, जो कि एक सरकारी ऑफिसर है, बहुत सारे पैसे हार जाता है। सक्सेना नाथ के सामने प्रस्ताव रखता है कि वो भारत सरकार द्वारा विकसित किये जा रहे एक गुप्त लेज़र-आधारित हथियार के ब्लूप्रिंट उसके हवाले कर दे और बदले में सक्सेना उसका सारा क़र्ज़ भुला देगा। नाथ उसकी बात मानकर ब्लूप्रिंट सक्सेना के सामने रख देता है।

जब पुलिस को इसकी खबर लगती है तो वो अपने सबसे काबिल पुलिस ऑफिसर विजय को इस मामले कि जांच करने के लिए भेजती है, क्योंकि विजय का चेहरा जय से हूबहू मिलता है। पुलिस का प्लान है कि वो जय के स्थान पर विजय को प्लांट कर देगी और इस तरह देश के दुश्मनों के सारे मनसूबों का पता लगा लेगी।

जय और विजय दोनों एक साथ रोम के एयरपोर्ट पर उतरते हैं। गलती से विजय को जय कि अमीर गर्लफ्रेंड माला (नीतू सिंह) जय समझ लेती है और अपने साथ ले जाती है। सक्सेना विजय का ध्यान केस से भटकने के लिए एक खूबसूरत क्लब डांसर - शबनम (जीनत अमान) को भेजता है। शबनम भी गलती से जय को विजय समझ लेती है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

गीत[संपादित करें]

  • दो लफ्जों की है, दिल की कहानी, या तो मुहोब्बत, या है जवानी

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]