दैर मार एलिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दैर मार एलिया: (सिरिएक: ܝܪܐܝܪܝܝ ܐܝܐܝܐ, अरबी: دير مار إيليا), जिसे सेंट एलियाह के मठ के रूप में भी जाना जाता है, इराक के निनवेह प्रान्त में मोसुल के दक्षिण में स्थित एक ईसाई मठ था। इसकी स्थापना 6 वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में हुई थी, और यह इराक में सबसे पुराने मठों में से एक था। यह पूर्वी ईसाई धर्म की एक प्राचीन शाखा का चर्च था। 1743 में मठ को बंद कर दिया गया था, इसके भिक्षुओं का फारसी सेनाओं द्वारा नरसंहार किया था। 2003 में इराक पर सयुंक्त आक्रमण के दौरान इसके खंडहर क्षतिग्रस्त हो गए थे, और बाद में इस्लामी राज्य इराक और लेवेंट (आईएसआईएल) ने 2014 में ध्वस्त कर दिया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]