दृश्यता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
[[[कोहरे]] से आगे की सड़क की दृश्यता घटती है

मौसम विज्ञान में दृश्यता (visibility) उस दूरी का माप होता है जिस तक कोई वस्तु या प्रकाश स्पष्ट रूप से देखा जा सके। अक्सर यह वायु तथा जल के लिए प्रयोग होता है। मसलन विमानों के लिए वायु की दृश्यता बहुत महत्वपूर्ण होती है। इसी तरह कोहरे में वाहन चलाने के लिए दृश्यता एक महत्वपूर्ण माप है।[1]

तेल संरक्षण से बेहतर जीवन व पर्यावरण

हम सभी जानते हैं कि हमारे दैनिक जीवन में तेल कितना महत्वपूर्ण है, मोम की मोमबत्तियों से विशाल ट्रकों तक सब कुछ पेट्रोलियम से बना है। परंतु, यह अत्यंत महत्वपूर्ण ईंधन हमारे ग्रह पर सीमित मात्रा में मौजूद है। एक सर्वेक्षण के अनुसार, यदि खपत की वर्तमान दर जारी रहती है तो तेल का भंडार केवल 50 साल अधिक रहेगा।

लेकिन, जो तेल बचा है, उसकी मात्रा से ज्यादा महत्वपूर्ण इसके उपयोग के पर्यावरणीय प्रभाव हैं। तेल की बीरिंग पर्यावरण में हानिकारक गैसों को छोड़ती है जो पृथ्वी पर गर्मी बढ़ाती हैं। इसे ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं। ग्लोबल वार्मिंग के कई नुकसान हैं। जब धरती पर गर्मी बढ़ जाती है तब ध्रुवों में बर्फ पिघलती है और महासागरों में जल स्तर बढ़ाती है। प्रदूषण से मानव शरीर में श्वसन संबंधी बीमारियां भी होती हैं। ये गैसें वनस्पतियों और जीवों को नष्ट कर सकती हैं।

पूर्व लिखित को ध्यान में रखते हुए, तेल का संरक्षण करना बहुत महत्वपूर्ण है। हम इसका संरक्षण कई तरीकों से कर सकते हैं। हमें वाहनों का उपयोग कम करना चाहिए। निजी वाहनों के बजाय सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें। इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग करने की कोशिश करें जो पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। प्रदूषण को रोकने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाएं। वाहनों में प्रदूषण और माइलेज की अक्सर जाँच करें।

निष्कर्ष में यह कहा जा सकता है कि तेल का उपयोग और पर्यावरण संरक्षण संरक्षण केवल तेल के उपयोग को कम करने और ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों के साथ जीवाश्म ईंधन की जगह के माध्यम से संभव है। एक उज्जवल, स्वस्थ और सुरक्षित भविष्य के लिए हमें जल्द से जल्द उन पर स्विच करना चाहिए!

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Seinfeld, John H.; Pandis, Spyros N. (2006). Atmospheric Chemistry and Physics - From Air Pollution to Climate Change (2nd ed.). John Wiley and Sons, Inc. ISBN 0-471-82857-2.