दशाध्यायी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दशाध्यायी, वराहमिहिर द्वारा रचित प्रसिद्ध ग्रन्थ बृहज्जातक के प्रथम दस अध्यायों की टीका है। इसकी रचना केरल निवासी गोविन्द भट्टतिरि (1237 – 1295) ने की थी।