दर्जी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हिंदू क्षत्रिय दर्जी:[संपादित करें]

दर्जी वस्त्र सीने की विशिष्ट योग्यता रखने वाला व्यक्ति होता है। वह व्यक्ति के शरीर की माप के अनुसार कपड़ा सीकर उसे वस्त्र का रूप देता है।[1] दर्जी भारत में एक क्षत्रिय हिंदू जाति है जो सीवने का कार्य करने वाले लोगो का समूह है। इसमें क्षत्रिय वर्ण के गोत्र वाले लोग होते हैं। किसी भी वर्ण या जाति  की उत्पत्ति ज्ञानी व्यक्तियों ने ही पृथ्वी पर की है। क्षत्रिय वर्ण के कुछ लोगों ने अहिंसा का मार्ग अपनाते हुए वस्त्र सीने का कार्य किया था जो आज क्षत्रिय दर्जी कहलाए।[2] ये जाति अन्य पिछड़ा वर्ग की केंद्र और राज्य की जाति सूची में समिल्लित हैं। महत्वपूर्ण जानकारी समय समय पर सम्मिलित की जाएगी। बिना संदर्भ पढ़े। कोई जानकारी न हटाई जाए।

मुस्लिम इदरीशी:[संपादित करें]

मुस्लिम समुदाय ने भी ये कार्य अपनी जीविका चलाने के लिए अपनाया था। जो इदरीसी कहलाए।

संदर्भ:[संपादित करें]

  1. "Darzi". People Groups of India (अंग्रेज़ी में). 2011-01-09. अभिगमन तिथि 2021-06-08.
  2. Digital Library Of India (1928). Kshatriya Vansh Pradeep.