दक्षिण ध्रुव-ऐटकेन घाटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कागुया डेटा पर आधारित दक्षिण ध्रुव-एटकेन घाटी का स्थलाकृतिक मानचित्र। लाल रंग उच्च उच्चतांश, बैंगनी रंग निम्न उच्चतांश को दर्शाता है। बैंगनी एवं भूरा अण्डाकार छल्ला घाटी के भीतरी एवं बाहरी दीवारों को चिन्हित करता है। (काला छल्ला छवि का एक पुरावशेष है।)

दक्षिण ध्रुव-ऐटकेन घाटी चंद्रमा के विमुख फलक पर स्थित एक विशाल प्रहार क्रेटर है। तकरीबन 2,500 किमी (1,600 मील) चौड़ा और 13 किमी (8.1 मील) गहरा, यह सौरमंडल के ज्ञात सबसे बड़े प्रहार क्रेटरों में से एक है। चंद्रमा पर मान्यता प्राप्त यह सबसे बड़ी, सबसे पुरानी और सबसे गहरी घाटी है।[1] यह विमुख फलक की दो रचनाओं पर नामित हुआ था; उत्तरी छोर पर स्थित क्रेटर ऐटकेन एवं दूसरे छोर पर स्थित दक्षिणी चंद्र ध्रुव। इस घाटी की बाह्य परिधि चंद्रमा के दक्षिणी भुजा पर स्थित पहाड़ों की एक विशाल श्रृंखला के रूप में पृथ्वी से देखी जा सकती है, जिसे कभी "लिबनिट्ज पर्वत" कहा गया, हालांकि यह नाम अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा आधिकारिक तौर पर नहीं माना गया है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Petro, Noah E.; Pieters, Carle M. (2004-05-05), "Surviving the heavy bombardment: Ancient material at the surface of South Pole-Aitken Basin" (PDF), Journal of Geophysical Research, 109, doi:10.1029/2003je002182