ढोली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ढोली वास्तव में कोई जाति समुदाय नही था किन्तु गांवों में ब्याह शादी और अन्य अवसरों पर ढोल बजा कर आजीविका कमाने वालो को ढोली कहा गया जो राजस्थान की एक जाति है। राजस्थान में ढोल बजाने वाले ढोली है मध्यप्रदेश में गंधर्व है गुजरात मे ढोल बजाने का कार्य हरिजन समाज का है। मुम्बई में भी ढोल गरब जाति बजाती है। यह राजस्थान में ढोल आदि बजाते थे । रामायण काल मे गंधर्व शब्द का उल्लेख मिलता है। अर्थात ये पुरानी जाति हो सकती है जो वर्तमान में ढोल बजाती है।