डाईलेसरेशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डाईलेसरेशन दांतों की वह समस्या है जिसमे दांतों का आकार और संरचना में अचानक से मुड़अन दिखाई देती है जो की दांतों की रूट में या फिर ताज में दिखाई देती है| यह कोनियकरण दांतों में कही पर भी देखने को मिलता है| डाईलेसरेशन दांतों की रूट में बहुत आसानी से पाया जाता है और इसमें दांत के रूट में मुड़अन दिखाई देती है| यह स्थिति किसी प्रकार के आघात के कारण या फिर दांतों के देर से आने के कारण भी हो सकती है|डाईलेसरेशन कच्चे और पक्के दोनों ही प्रकार के दांतों में देखा जा सकता है| सबसे साधारण दंत जो इस स्थिति में पीड़ित होते है वो पक्के ऊपर वाले दांतों में दिखाई देता है| [1]

इलाज़[संपादित करें]

  1. प्राथमिक दांतों में अगर अनचाही रीसोर्पशन दिखाई देती है और अगर वह पूरी तरह से विस्फोट नही हो पाते तो उन्हें निकाल दिया जाता है, जिससे बाकी दांतों को कोई नुक्सान न हो पाए|
  2. अत्यंत रूप से विकृत आए हुए दांतों को शल्य रूप से निकल दिया जाता है क्यूंकि इस स्थिति में दांतों का निकलना ही सही इलाज है|
  3. नरम डाईलेसरेशन की स्थति में इलाज की जरूरत नही पड़ती।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. [1] Standerwick RG. A possible etiology for the dilaceration and flexion of permanent tooth roots relative to bone remodeling gradients in alveolar bone. Dent Hypotheses [serial online] 2014 [cited 2014 Mar 3];5:7-10. Available from: http://www.dentalhypotheses.com/text.asp?2014/5/1/7/128105