डफला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डफला भारत की एक प्रमुख जनजाति हैं। == निवास क्षेत्र == arunachal pradesh

बस्तियां[संपादित करें]

डफला जाति के लोग बंगनी भी कहलाते हैं, पूर्वी भूटान और अरुणाचल प्रदेश (भूतपूर्व नॉर्थ-ईस्ट फ़्रंटियर एजेंसी, नेफ़ा) के जनजातीय लोग है।

ये लोग चीनी-तिब्बती परिवार की तिब्बती-बर्मी भाषा बोलते हैं। डफला अपना भरण-पोषण झूम खेती, शिकार और मछली मारकर करते हैं। ये 900 से 1,800 मीटर की ऊँचाई पर बल्लियों पर बने मकानों में रहते हैं। वंश का निर्धारण पैतृक आधार पर किया जाता है, जो 60 या 70 लोगों का एक कुटुंब होता है। यह कुटुंब एक लंबे घर में एक साथ रहता है, जिसमें विभाजित खंड नहीं होते, लेकिन प्रत्येक दंपति के परिवार के लिए एक अलग चूल्हा होता है। इस परंपरागत पितृगृह के अलावा कोई औपचारिक सामाजिक संगठन अथवा ग्राम सरकार नहीं होती। इनके धर्म में प्रकृति से जुड़ी पवित्र आत्माओं में विश्वास सम्मिलित है।

भोजन[संपादित करें]

वस्त्र[संपादित करें]

समाज[संपादित करें]