टैबलेट कम्प्यूटर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

टेबलेट कंप्यूटर या पीसी एक स्लेटनुमा पतली मोबाइल कंप्यूटिंग युक्ति होती है। इस युक्ति को चलाने के लिए स्पर्श-पटल (टचस्क्रीन या स्टाइलस) सुविधा होती है। इसके द्वारा कम्प्यूटर चलाने में अधिक सुविधा मिलती है।[1] टेबलेट पीसी प्रायः ऐसे स्थानों पर प्रयोग होता है जहां आम लैपटॉप या नोटबुक कंप्यूटर काम में नहीं आती या काम ठीक तरीके से नहीं कर पाती हैं। टेबलेट पीसी एक छोटी सी डायरी के आकार की होती है जिसका प्रयोग डे-प्लानर, इण्टरनेट सर्फिग, प्रोजेक्ट प्लानिंग, वीडियो फिल्में देखने, टीवी देखने, संगीत सुनने या ई-रीडिंग यानी अखबार, पुस्तकें आदि पढ़ने के काम आती है। अधिकांशत: टेबलेट पीसी में २१-३६ सेंटीमीटर लंबी एलसीडी स्क्रीन लगी होती है। कई कार्यक्षेत्रों जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा और फील्डवर्क में टेबलेट पीसी का खासा चलन दिखाई देता है। फील्ड वर्क जैसे कि मार्केटिंग आदि में वैसे भी इस तरह के टेबलेट पीसी की आवश्यकता होती है जो मजबूत हों और साथ ही गर्मी, नमी सह सकें। इनके साथ ही जिनका टूट-फूट का खतरा कम हो। इस दृष्टि से वर्तमान टेबलेट पीसी काफी कारगर सिद्ध हो रहे हैं।

प्रगति[संपादित करें]

रोटेटिंग/रिमूवेबल कीबोर्ड सहित HP कॉम्पैक पीसी

वर्ष २००७ में माइक्रोसॉफ्ट ने टेबलेट पीसी के बारे में सर्वप्रथम बताया था। यह एक छोटे आकार का कंप्यूटर था, जिसमें खास किस्म की हार्डवेयर विशेषताएं माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाई गई थीं। विंडोज एक्सपी टेबलेट पीसी संस्करण संचालन प्रणाली या इससे मिलता जुलता सॉफ्टवेयर इसमें था।[1] एप्पल कंपनी ने जनवरी, २०१० के अंत में आइपैड नामक टेबलेट पीसी लांच किया।[2] इसमें मॉनिटर, सीपीयू और स्क्रीन सब एक साथ हैं तथा आइफोन की तरह टच स्क्रीन की सुविधा मिलेगी। इस खास पीसी में अलग से कोई की बोर्ड नहीं है और स्क्रीन १० इंच की है। इसकी कीमत लगभग १००० डॉलर के लगभग है। हैदराबाद की प्रौद्योगिकी कंपनी नोशन इंक ने पहला टचस्क्रीन टेबलेट पीसी बनाया है जिसमें गूगल के मुक्त स्रोत संचालन प्रणाली एंड्रोइड, एनवीडिया की टेग्रा प्रोसेसर चिप और अमेरिकी कंपनी पिक्सेल क्यूआई के डिस्प्ले स्क्रीन का प्रयोग किया जा रहा है।[3] नोशन इंक नामक इस टेबलेट पीसी में १०.१ इंक के टचस्क्रीन लगी है। यह एनवीडिया के टेग्रा प्रोसेसर चिप द्वारा संचालित है और इसका वजन ७७० ग्राम है। इसमें ब्लूटूथ, ऑटोफोकस, वीडियो रिकॉर्डिंग और ३२ जीबी डाटा स्टोरेज के साथ ३-मेगा पिक्सल डिजिटल कैमरा जैसी सुविधाओं की पेशकश की गई है। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जुलाई २०१० में साक्षात नामक टैबलेट पीसी का प्रोटोटाइप पेश किया जिसका विकास विभिन्न आइआइटी ने मिलकर किया है। यह १० इंच लम्बा तथा ५ इंच चौड़ा टैबलेट पीसी है जो कि लिनक्स प्लेटफॉर्म पर चलता है। यह विद्यार्थियों तथा शिक्षा के क्षेंत्र को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

आम लैपटॉप और टेबलेट पीसी में कई अंतर और अपनी-अपनी विशेषताएं व कमियां हैं। जैसे, माउस या कीबोर्ड की इसमें आवश्यकता ही नहीं पड़ती, यह आरेख या गणितीय आंकड़ों को सरलता से अंकित कर लेता है, लेकिन इसकी कीमत फिलहाल ज्यादा है। एक ओर जहां इसकी टचस्क्रीन सुविधा अपने आप में फायदेमंद है, वहीं स्क्रीन संवेदनशील होने के कारण उसके टूटने का डर भी रहता है।

हिन्दी समर्थन[संपादित करें]

OLPC XO-३ कॉन्सेप्ट[4]

वर्तमान में जो टैबलेट प्रचलन में हैं वे मुख्यतः तीन संचालन प्रणालियो पर आधारित हैं। ऍपल का आइपैड आइओऍस पर आधारित है। इसमें हिन्दी समर्थन आंशिक है अर्थात हिन्दी दिखती तो है लेकिन टूटी-फूटी तथा बिखरी हुयी अर्थात डिवाइस का कॉम्प्लैक्स स्क्रिप्ट प्रोसैसर देवनागरी को सही प्रकार से रैण्डर नहीं करता।

वर्तमान में सबसे अधिक टैबलेट ऍण्ड्रॉइड संचालन प्रणाली वाले आ रहे हैं। ऍण्ड्रॉइड में भी अभी तक (संस्करण २.२) हिन्दी समर्थन उपलब्ध नहीं है। इस बारे कई बग दर्ज किये गये हैं।[5],[6],[7],[8]

विंडोज़ संचालन प्रणाली वाले टैबलेट कम हैं। इनमें हिन्दी समर्थन उपलब्ध है। ऐसे कुछ मॉडलों में en:HP Slate, Archos 9, X2 iTablet आदि शामिल हैं। ऍचपी ने घोषणा की है कि इसके सभी आने वाले टैबलेट में वेबओऍस संचालन प्रणाली होगा जिसमें हिन्दी समर्थन बारे कुछ ज्ञात नहीं है। ब्लैकबेरी के ब्लैकबेरीओऍस वाले टैबलेट में हिन्दी समर्थन बिलकुल नहीं है अर्थात हिन्दी बिलकुल नहीं दिखती।[9]

साक्षात नामक भारतीय टैबलेट में संचालन प्रणाली अभी निश्चित नहीं है। कुछ रिपोर्टों में इसे लिनक्स बताया गया है और कुछ में ऍण्ड्रॉइड। यदि इसमें लिनक्स हुआ तो हिन्दी समर्थन उपलब्ध होगा और यदि ऍण्ड्रॉइड हुआ तो नहीं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]