टायर का पुनर्चक्रण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
BURNING OF TIRE DUMP CREATES SMOKE HAZARD - NARA - 542531.jpg

गाड़ियों के बेकार हो गये टायरों के पुनर्चक्रण की प्रक्रिया को टायर का पुनर्चक्रण या 'रबर का पुनर्चक्रण' कहते हैं। बेकार हो गये टायर आजकल सबसे बड़ा और सबसे अधिक समस्या करने वाला कचरा है क्योंकि आजकल भारी मात्रा में इनका उत्पादन और खपत हो रही है तथा इन टायरों में बहुत से ऐसे पदार्थ हैं जो पर्यावरण की दृष्टि से बहुत सी समस्यायें पैदा करते हैं। ऐसा अनुमान है कि लगभग २६ करोड़ टायर प्रतिवर्ष बेकार हो जाते हैं। (1980 तथा 1990 के दशक के आंकड़े)[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Bandyopadhyay, S.; Agrawal, S.L.; Ameta, R.; Dasgupta, S.; Mukhopadhyay, R.; Deuri, A.S.; Ameta, Suresh C.; Ameta, Rakshit (2008). "An overview of rubber recycling". Progress in Rubber, Plastics and Recycling Technology 24: 73–112.