जॉर्ज बूल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जॉर्ज बूल
George Boole color.jpg
जॉर्ज बूल
स्थानीय नाम George Boole
जन्म 02 नवम्बर 1815
लिंकन, लिंकनशायर, इंग्लैंड
मृत्यु 8 दिसम्बर 1864(1864-12-08) (उम्र 49)
बैलिनटेम्पल, काउंटी कॉर्क, आयरलैंड
राष्ट्रीयता ब्रिटिश
धार्मिक मान्यता यूनिटैरियन
बच्चे Lucy Everest Boole[*], Ethel Lilian Voynich[*], Alicia Boole Stott[*], Mary Boole Hinton[*], Margaret Boole Taylor[*]
Era उन्नीसवीं सदी का दर्शन
Region पश्चिमी दर्शनशास्त्र
School अभिकलन के गणितीय आधार व सूत्र
Main interests
गणित, तर्क, गणित में दार्शनिकी
Notable ideas
बूलीय बीजगणित

जॉर्ज बूल (अंग्रेज़ी: George Boole) (०२ नवम्बर १८१५ - ०८ दिसम्बर १८६४) ब्रिटेन के एक गणितज्ञ एवं दार्शनिक थे। वे तर्कशास्त्र को एक बीजगणितीय रूप देने के लिये प्रसिद्ध हैं। बूल का बीजगणित, आधुनिक संगणक-गणित का आधार सिद्ध हुआ है। आज उनका यह योगदान इतना महान और महत्वपूर्ण दिखता है कि संगणक विज्ञान के जन्मदाताओं में उनकी गणना की जाती है। (जबकि उनके युग में कम्प्यूटर का कहीं अता-पता नहीं था)


जीवन चरित[संपादित करें]

जॉर्ज बूल के पिता जॉन बूल (1779-1848), एक कारीगर थे। उनके पास साधनों की कमी थी किन्तु वे स्वाध्यायी एवं क्रियाशील मस्तिष्क वाले व्यक्ति थे। जॉन बूल की गणित और तर्कशास्त्र में विशेष रुचि थी। पिता ने ही पुत्र जॉर्ज बूल के शिक्षा की नींव रखी। किन्तु जॉर्ज के अन्दर छिपी हुई गणितीय मेधा उनके जीवन के आरम्भिक काल में प्रकट नहीं हुई। आरम्भ में शास्त्रीय विषय ही उनके प्रिय विषय रहे।

सन्दर्भ[संपादित करें]


इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]