जीओसीई उपग्रह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जीओसीई (GOCE)
'अंतरिक्ष की फ़रारी' का कलाकार द्वारा बनाया गया चित्र[1]
'अंतरिक्ष की फ़रारी' का कलाकार द्वारा बनाया गया चित्र[1]
मिशन प्रकार गुरुत्वाकर्षण का अध्ययन
संचालक (ऑपरेटर) यूरोपीय अंतरिक्ष अभिकरण
कोस्पर आईडी 2009-013A
सैटकैट नं॰ 34602
वेबसाइट esa.int/SPECIALS/GOCE/index.html
मिशन अवधि 20 माह (योजनाबद्ध)
55 माह (अक्टूबर २०१३ में मिशन के अन्त की घोषणा; नवम्बर २०१३ में पुनः जाँच)
अंतरिक्ष यान के गुण
निर्माता थलेस अलेनिया स्पेस
ईएडीएस एस्ट्रियम
लॉन्च वजन 1,077-किलोग्राम (2,370 पौंड)
शुष्क वजन 872-किलोग्राम (1,920 पौंड)
आकार-प्रकार 5.3 (व्यास)
ऊर्जा 1600 वॉट
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि Not recognized as a date. Years must have 4 digits (use leading zeros for years < 1000). यूटीसी[2]
रॉकेट रोकोट/ब्रिज़-केएम
प्रक्षेपण स्थल प्लेसेटस्क 133/3
ठेकेदार यूरोकोट लांच सर्विसेज
मिशन का अंत
निष्कासन (डिस्पोज़ल) अनियंत्रित पुनः प्रवेश
क्षय तिथि 21 अक्टूबर - 11 नवम्बर 2013
कक्षीय मापदण्ड
निर्देश प्रणाली भूकेन्द्रिक
काल सूर्य-तुक्यकालिक अलगभ-वर्तुल[3]
परिधि (पेरीएपसिस) 254.9-किलोमीटर (158.4 मील)[3]
झुकाव 96.7 डिग्री
युग मुख्य मिशन, मार्च 2009 - नवम्बर 2012
ट्रांस्पोंडर
बैंड एस-बैण्ड
आवृति (फ्रीक्वेंसी) 2 GHz
बैंडविड्थ 1.2 Mbit/s तक डाउनलोड क्षमता
4 kbit/s तक भारण क्षमता
उपकरण
ईजीजी: स्थिरवैधुत गुरुत्वीय प्रवणतामापी
एसएसटीआय: उपग्रह-से-उपग्रह लक्ष्यानुसरण उपकरण
एलआरआर: लेजर परास परावर्तक
जीओसीई (GOCE) का प्रतीक चिन्ह



लिविंग प्लेनेट प्रोग्राम

जीओसीई उपग्रह (अंग्रेज़ी: Gravity Field and Steady-State Ocean Circulation Explorer ग्रेविटी फील्ड एंड स्टेडी स्टेट ओशन सर्कुलेशन एक्सप्लोरर हिन्दी: गुरुत्वीय क्षेत्र और स्थूल अवस्था महासागर परिसंचरण अन्वेषण) यूरोपीय अन्तरिक्ष एजेंसी द्वारा गुरुत्वाकर्षण का अध्ययन करने के लिए भेजा गया उपग्रह था। इसे वर्ष 2009 में प्रक्षेपित किया गया था। आकर्षक दिखने के कारण इसे फ़रारी ऑफ़ स्पेस (अंतरिक्ष की फ़रारी) भी कहा जाता था।[4] नवम्बर २०१३ में अनियंत्रित होकर यह पृथ्वी के वायुमण्डल में प्रवेश कर गया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.esa.int/Our_Activities/Observing_the_Earth/GOCE/GOCE_completes_its_mission
  2. "GOCE launched and in orbit". ESA. 17 मार्च 2009. http://www.esa.int/Our_Activities/Observing_the_Earth/GOCE/Entry_23_GOCE_launched_and_in_orbit. अभिगमन तिथि: 10 अक्टूबर 2013. 
  3. GOCE giving new insights into Earth’s gravity, ESA, retrieved 11 नवम्बर 2010  Check date values in: |access-date= (help)
  4. जोनाथन एमोस (11 नवम्बर 2013). "धरती पर गिरी 'अंतरिक्ष की फ़रारी'". बीबीसी हिन्दी. http://www.bbc.co.uk/hindi/science/2013/11/131111_esa_space_goce_debris_dp.shtml. अभिगमन तिथि: 11 नवम्बर 2013.