ज़माना पत्रिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ज़माना कानपुर से प्रकाशित होने वाली प्रमुख उर्दू पत्रिका थी। इसके संपादक मुंशी दयानारायण निगम थे। प्रेमचंद की पहली कहानी सांसारिक प्रेम और देशप्रेम इसी पत्रिका में अप्रैल १९०७ में प्रकाशित हुई थी।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. डॉ॰ कमल किशोर गोयंका- कहानी रचनावली, खंड-१, साहित्य अकादमी, २०१०, भूमिका