छल्ला (लोकगीत)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

छल्ला एक प्रसिद्ध पंजाबी लोकगीत है। वर्तमान भारत-पाक सीमा के दोनों ओर के पंजाब में कई गायकों ने कई अवसरों पर यह गीत गाया है और इसके कई संस्करण प्रसिद्ध हैं। भारतीय पंजाब में १९८६ में आई पंजाबी फ़िल्म लौंग दा लिश्कारा में जगजीत सिंह द्वारा संगीतबद्ध गुरदास मान द्वारा गाया गया संस्करण बहुत प्रसिद्ध हुआ।[1]

शाहरुख खान अभिनीत हिन्दी फ़िल्म जब तक है जान में रब्बी शेरगिल ने छल्ला गाया। इस गाने का वीडियो 1 अक्टूबर 2012 को रिलीज़ किया गया और पहले ही दिन इसके दर्शकों का आँकड़ा दस लाख को पार कर गया।[2][3][4] इसे उस वर्ष के फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ गीत का पुरस्कार भी मिला।

2010 में रिलीज हुई इमरान हाशमी अभिनीत फिल्म क्रुक में इस गीत का प्रवासी भारतीय संस्करण छल्ला इंडिया तों आया प्रस्तुत किया गया। इसे बब्बू मान व सुज़ैन डिमेलो ने स्वर दिए। इस गीत को पंजाबी म्यूज़िक अवार्ड्स में उस वर्ष का हिंदी फिल्मों में सर्वश्रेष्ठ पंजाबी गीत का पुरस्कार दिया गया। यह बब्बल राय के गीत ऑस्ट्रेलियन छल्ला का ही परिवर्धित संस्करण था।[5][6]


बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • https://g.co/kgs/McC1lB यूट्यूब पर गुरदास मान द्वारा गाया गया छल्ला

संदर्भ[संपादित करें]