चार्ल का नियम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
वायु के कद और तापमान का संबंध दर्शाता हुआ एनिमेशन

सन् 1787 में चार्ल्स ने स्थिर दाब पर ताप के साथ किसी वायु (गैस) के आयतन में होने वाले परिवर्तन को एक नियम के रूप में प्रस्तुत किया | इसे चार्ल्स का नियम कहते है| इस नियमानुसार, स्थिर दाब पर किसी वायु (गैस) के निश्चित द्रव्यमान के ताप को 1 डिग्री सेल्सियस बढ़ाने पर उसका आयतन 0 डिग्री सेल्सियस के आयतन का 1/275 भाग बढ़ जाता है[1] |

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Fullick, P. (1994), Physics, Heinemann, pp. 141–42, ISBN 0-435-57078-1 .