ग्राफीन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(ग्रेफीन से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ग्रेफीन की संरचना

यह एक अणु की मुटाई वाली सामान्य कार्बन की एक पतली परत है जो विलक्षण गुण प्रदर्शित करती है। इसकी खोज आंद्रे जीम (51) और कोंसटांटिन नोवोसेलोव (36) ने की जिसके लिए उन्हें वर्ष 2010 का भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

निर्माण[संपादित करें]

गीम और नोवोसेलोव ने ग्राफीन को ग्रेफाइट के एक टुकड़े से निष्कर्षित किया है। ग्रेफाइट सामान्य पेंसिल में इस्तेमाल किया जाता है। ग्रेफाइट एक भङुर पदार्थ है। जिसे तोडने पर वह काच कि तरह टुट जाता है। और बिखर जाता है।

विशेषताएँ[संपादित करें]

यह सबसे पतला पदार्थ है किंतु यह अब तक के पदार्थों में सबसे मजबूत भी है। बिजली का संवाहक होने के साथ साथ इसमें तांबे के भी गुण हैं। उष्मा का संवाहक होने के अलावा यह इस गुण में अन्य पदार्थों में सबसे आगे हैं। यह लगभग पारदर्शी है, इसके बावजूद यह इतना घना है कि सबसे छोटा गैस का अणु हीलियम भी इससे होकर गुजर नहीं सकता।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]