गोल्डबैक का अनुमान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गोल्डबैक का अनुमान (Goldbach's conjecture) गणित एवं संख्या सिद्धान्त की सबसे पुरानी अनसुलझी समस्याओं में से एक है। इसके अनुसार,

" 2 से बड़ी सभी सम संख्याओं को दो अभाज्य संख्याओं के योग के रूप में व्यक्त किया जा सकता है।

उदाहरण
  4 = 2 + 2
  6 = 3 + 3
  8 = 3 + 5
10 = 3 + 7 = 5 + 5
12 = 5 + 7
14 = 3 + 11 = 7 + 7
किसी सम संख्या को दो अभाज्यों के योग के रूप में लिखने की विधियों की संख्या[1]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]


सन्दर्भ त्रुटि: <ref> टैग मौजूद हैं, किन्तु कोई <references/> टैग नहीं मिला