गोल्डबैक का अनुमान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

गोल्डबैक का अनुमान (Goldbach's conjecture) गणित एवं संख्या सिद्धान्त की सबसे पुरानी अनसुलझी समस्याओं में से एक है। इसके अनुसार,

" 2 से बड़ी सभी सम संख्याओं को दो अभाज्य संख्याओं के योग के रूप में व्यक्त किया जा सकता है।

उदाहरण
  4 = 2 + 2
  6 = 3 + 3
  8 = 3 + 5
10 = 3 + 7 = 5 + 5
12 = 5 + 7
14 = 3 + 11 = 7 + 7
किसी सम संख्या को दो अभाज्यों के योग के रूप में लिखने की विधियों की संख्या[1]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • “Goldbach's Conjecture" by Hector Zenil, Wolfram Demonstrations Project, 2007.