गोधूलि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

साँचा:शब्दकोश लायक

गोधूलि शब्द का अर्थ है - गो + धूल = अर्थात गायों के पैरों से उठने वाली धूल। पुराने समय में जब गायें जंगल से चरकर वापस आती थीं तो पता चल जाता था कि शाम होने वाली है। इसलिए इस समय विशेष को गोधूलि बेला कहने लगे। अर्थात संध्या का समय।

यह शब्द हिंदी में काफी प्रयुक्त होता है, यदि आप इसका सटीक अर्थ जानते है तो पृष्ठ को संपादित करने में संकोच ना करें (याद रखें - पृष्ठ को संपादित करने के लिये रजिस्टर करना आवश्यक नहीं है)। दिया गया प्रारूप सिर्फ दिशा निर्देशन के लिये हैं, आप इसमें अपने अनुसार फेर-बदल कर सकते हैं।



गोधूलि:- गोधूलि ,सूरज उगने से पहले तथा सूरज डूबने के बाद के बेला को बोलो जाता हैं। गोधूलि 3 तरह के होते

== उदाहरण == अभी नंद राय के घर मेँ कोई पुरुष नहीं हैँ क्योकि पुरुष गोधुली के बाद हीं घर मेँ प्रवेश करते हैँ ।

मूल[संपादित करें]

अनर्थ[संपादित करें]

संबंधित शब्द[संपादित करें]

हिंदी में[संपादित करें]

अन्य भारतीय भाषाओं में निकटतम शब्द[संपादित करें]