गोथिक भाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

गोथिक एक विलुप्त यूरोपीय भाषा है जो गोथों द्वारा बोली जाती थी। यह मुख्य रूप से कोडेक्स अर्जेण्टस से जानी जाती है, जो चौथी सदी के बाइबिल अनुवाद की छठी सदी की प्रतिलिपि है, और बड़े आकार के पाठसंग्रह वाली एकमात्र पूर्वी जर्मेनिक भाषा है। एक जर्मन भाषा के रूप में, गोथिक भारोपीय भाषा परिवार का एक हिस्सा है। गोथिक में सबसे पुराने दस्तावेज चौथी सदी से हैं। यह भाषा मध्य छठी शताब्दी में गिरावट में थी,आंशिक रूप से फ्रैंक्स के हाथों गोथों की पराजय, इटली में गोथों के उन्मूलन और भौगोलिक अलगाव के कारण।

गोथिक भाषा एक घरेलू भाषा के रूप में औबेरियन प्रायद्वीप (आधुनिक स्पेन और पुर्तगाल) में आठवीं सदी तक और निचले डेन्यूब क्षेत्र तथा क्रीमिया में पृथक पहाड़ी क्षेत्रों में नवीं सदी तक बची रही।

ऐसे प्राचीन अभिप्रमाणित ग्रंथों का होना इसे तुलनात्मक भाषा विज्ञान में काफी रुचि की एक भाषा बनाता है।[1]

इतिहास और साक्ष्य[संपादित करें]

गोथिक में कुछ ही दस्तावेज बचे हैं जो कि भाषा के पूर्ण पुनर्निर्माण के लिए अपर्याप्त हैं।

Ambrosianus.jpg

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Gothic: Languages of the World: Introductory Overviews" [गोथिक: विश्व की भाषाएं: परिचयात्मक अवलोकन]. YouTube (अंग्रेज़ी में). मूल से 16 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 फरवरी 2017.