गूदेदार पौधा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कुछ घृत कुमारी जैसे गूदेदार पौधे अपने पत्तों में पानी बटोरते हैं और इसे गाढ़े द्रव के रूप में पत्तों को काटकर देखा जा सकता है

गूदेदार पौधा (succulent plant) ऐसे पौधे होते हैं जिनका कोई भाग साधारण से अधिक मोटा या मांसवाला हो। यह अक्सर शुष्क या रेगिस्तानी क्षेत्रों में पानी रखने के लिए देखा जाता है। यह पानी आमतौर से पौधे के पत्तों या टहनियोंशाखों में रखा जाता है और उन्हें काटने पर रस, जल या गोंद देखी जा सकती है। कैक्टस जैसे कई गूदेदार पौधों को अपने असाधारण रूप के लिये सजावटी पौधों के लिये भी उगाया जाता है।[1][2][3][4][5]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Hewitt, Terry (1993), The Complete Book of Cacti & Succulents, London: Covent Garden Books, ISBN 978-1-85605-402-7
  2. Innes, Clive & Wall, Bill (1995), Cacti, Succulents and Bromeliads, London: Cassell for the Royal Horticultural Society, ISBN 978-0-304-32076-9
  3. Jacobsen, Hermann (1960), A Handbook of Succulent Plants (Vols 1–3), Poole, Dorset: Blandford Press, ISBN 978-0-7137-0140-1
  4. Martin, Margaret J. & Chapman, Peter R. (1977), Succulents and their cultivation, London: Faber & Faber, ISBN 978-0-571-10221-1
  5. Rowley, Gordon D. (1980), Name that Succulent, Cheltenham, Glos.: Stanley Thornes, ISBN 978-0-85950-447-8