गंगाबाई याज्ञिक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
गंगाबाई प्राणशंकर याज्ञनिक
जन्म 1868 (1868)
मृत्यु 1937 (आयु 68–69)
व्यवसाय लेखिकाl, शिक्षिका, वैद्य

गंगाबाई प्राणशंकर याज्ञनिक (१८६८-१९३७) एक गुजराती लेखिका थीं। वे पेशे से एक शिक्षिका और आयुर्वैदिक वैद्य थीं। उन्होंने साधारण जनता के स्वरोजगार के लिए 'हुन्नर महासागर' (1898) नामक एक ग्रन्थ लिखा जिसमें लगभग 2080 ट्रेडों, कौशलों और युक्तियों का संकलन था। उन्हें पहली महिला गुजराती लेखिका माना जाता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]