खुल जा सिमसिम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

खुल जा सिमसिम एक जादुई वाक्य है, जिसके द्वारा अली बाबा और चालीस चोर एक गुफा में रखे खजाने तक पहुँचने के लिए करते थे। इसमें यह शब्द बोलने पर गुफा का द्वार अपने आप ही खुल जाता था। इसे बन्द करने के लिए बन्द हो जा सिमसिम कहते थे।[1]

नाम[संपादित करें]

  • अरबी - इफ्ताह या सिमसिम
  • हिन्दी - खुल जा सिमसिम
  • फ़्रांसीसी - सेसम औवरे-तोई
  • अंग्रेज़ी - ओपेन सेसम

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Les mille et une nuits : contes arabes / traduits par Galland, ornés de gravures"". मूल से 27 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 जुलाई 2015.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]