खाली घोंसले का संलक्षण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

खाली घोंसले के संलक्षण (Empty nest syndrome) दुःख और अकेलेपन की एक भावना है जो अक्सर माता-पिता महसूस करते हैं जब उनके बच्चे पहली बार घर छोड़ते हैं। बच्चों के घर छोड़ने का कारण स्वयं पर जीने का प्रारंभ करना या कॉलेज या विश्वविद्यालय में भाग लेना हो सकता हैं। यह एक नैदानिक स्थिति नहीं है। [1]

लक्षण और प्रभाव[संपादित करें]

खाली घोंसले के सिंड्रोम के लक्षणों में अवसाद, उद्देश्यहीनता की भावनाएं, अस्वीकृति की भावनाएं, या बच्चे के कल्याण की अत्यधिक चिंता एवं तनाव शामिल हो सकते है। माता-पिता जो खाली घोंसले के संलक्षण का अनुभव करते हैं, अक्सर सवाल करते हैं कि उन्होंने अपने बच्चे को स्वतंत्र रूप से जीने के लिए पर्याप्त रूप से तैयार किया है या नहीं। [2]

परछती[संपादित करें]

माता-पिता का इस् संलक्षण से निपटने के लिए सबसे आसान तरीकों में से एक अपने बच्चों के संपर्क में रहना है। सेलफोन, टेक्स्ट मैसेजिंग और इंटरनेट जैसे तकनीकी विकास, माता-पिता और उनके बच्चों के बीच बढ़ते हुए संचार में मदद् करते हैं।

खाली घोंसले के संलक्षण के पीड़ित् माता-पिता अपने तनाव को अपने खाली समय में अपने किसी शौक का पीछा करके कम कर सकते हैं। एक-दूसरे, दोस्तों, परिवारों या पेशेवरों के साथ उनके दुःख पर चर्चा करना उनकी मदद कर सकता है। विशेषज्ञों ने यह सलाह दी है कि अभिभूत माता-पिता एक पत्रिका मे अपनी भाँवनाँए दर्ज करें, या अगर वे पूर्णकालिक माता-पिता हों तो काम पर वापस जाएँ। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Empty nest syndrome: Tips for coping". Mayo Clinic. अभिगमन तिथि 9 February 2013.
  2. Myers, E.J., & Raup, L.J. (1989). The empty nest syndrome: Myth or reality? Journal of Counseling & Development, 68(2), 180–183. Retrieved from http://onlinelibrary.wiley.com/doi/10.1002/j.1556-6676.1989.tb01353.x/abstract Archived नवम्बर 26, 2014 at the वेबैक मशीन.