खाता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर

जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर- also know as jai gondwana sangathan samiti sailarpur . जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर, कटनी जिले के ढ़ीमरखेड़ा तहसील में स्थित सैलारपुर गाँव का संगठन है| यह संगठन गोंड आदिवासियो को जागरूक करने एवं गोंड समाज में फैले पाखंड से मुक्त कराने के लिये बनाया गया है|

जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर- जिसके 

अध्यक्ष- तिरु. सुरेश सिंह मरकाम, संरक्षक- तिरु. देवी सिंह कुलस्ते, भुमका/प्रवक्ता- तिरु. देवी सिंह सैयाम,हैं| जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर की स्थापना भारत के सबसे बड़े आंदोलन sc/st आरक्षण के हक कि लड़ाई के लिये जो चला था 2अप्रैल 2018 को उसकी प्रेरणा से हुई| जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर सिर्फ अपने गोंड आदिवासियो के ऊपर लदे पाखंड, मानसिक गुलामी और हो रहे शोषण से मुक्त करने में लगा है जिसका गाइड लाईन बौद्ध धर्म से मिला एवं सामाजिक प्रोत्साहन भी बौद्ध एवं भीम आर्मी करता है| जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर, अपने गोंडियन लोगो को सिर्फ मूर्ति पूजा पर रोक लगाता है क्योकि गोंड आदिवासी सिर्फ प्राक्रति का पुजारी है ना कि मुर्तियो का इसलिये गोंडियन लोगो को मूर्ति पूजा ना करने का संदेश देता है| जय गोंडवाना कोयतूर सेवा समिति सैलारपुर अपने हर वर्ष में एक बार अपने गोंडी धर्मगुरू पहादी पारी कुपार लिंगो का भव्य तरीके से जन्मोत्सव मनाता है और यह जन्मोत्सव शरद पूर्णिमा को मनाया जाता है जिसमे कई हजारो की तदात में गोंडियन सखा समाज उपस्थित होती है ग्राम पंचायत सैलारपुर में एवं सभी बहुजन संगठन के लोग भी उपस्थित होते है|

गोंडवाना संगठन सैलारपुर का नारा है- एक तीर एक कमान, आदिवासी एक समान,,

शिक्षित बनो, संगठित रहो, संघर्ष करो,

एवं संगठन के प्रमुख प्रेरणादायी कार्यक्रम हैं- 24जून- वीरांगना रानी दुर्गावती बलिदान दिवस, 18सितम्बर- राजा शंकर शाह एवं रघुनाथ शाह बलिदान दिवस, 5अक्टूबर- रानी दुर्गावती जन्मोत्सव, एवं शरद पूर्णिमा गोंडी धर्मगुरू पहांदी पारी कुपार लिंगो जन्मोत्सव आदि..

जय सेवा जय बड़ादेव जय गोंडवाना --जय भीम--