कोष्ठक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उपर से नीचे की तरफ --> बड़ा कोष्टक, मझोला कोष्टक, छोटा कोष्टक, कोणीय कोष्टक और असमता चिह्न (लाल रंग में)

कोष्ठक का उपयोग मुख्यतः वाक्यों में शब्दों के मध्य किया जाता है।[1] कोष्टक (Brackets) वे चिह्न हैं जो प्रायः जोड़े में प्रयुक्त होते हैं और दूसरे चीजों से अलग करने के लिये प्रयुक्त होते हैं। इनका प्रयोग गणित में, प्रोग्रामन भाषाओं में, मार्कअप भाषाओं (जैसे एचटीएमएल में असमता चिह्न का प्रयोग) में होता है।

प्रकार[संपादित करें]

कोष्ठक तीन (3) प्रकार के होते हैं -

1. लघु कोष्ठक

2. मध्यम कोष्ठक

3. दीर्घ कोष्ठक

जब प्रश्नों को हल किया जाता है, तब कोष्ठकों को इसी क्रम में खोला जाता है। सबसे पहले लघु, फिर मध्यम और अंत में दीर्घ कोष्ठक खोला जाता है।

लघु कोष्ठक[संपादित करें]

इसे "( )" चिन्ह से प्रदर्शित करते हैं।

मध्यम कोष्ठक[संपादित करें]

इसे "{ }" चिन्ह से प्रदर्शित करते हैं।

दीर्घ कोष्ठक[संपादित करें]

इसे "[ ]" चिन्ह से प्रदर्शित करते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Truss, Lynne. Eats, Shoots & Leaves, 2003. p. 161. ISBN 1-59240-087-6.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]