किसान क्रेडिट कार्ड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

किसान क्रेडिट कार्ड भारतीय बैंकों द्वारा वर्ष 1998 में आरम्भ की गयी एक योजना है। इससे किसानों को कर्जा मिल रहा है उस की ब्याज दर कम होती है जिसकी वजह से किसान आसानी से कर ले सकता है वह सरकार की तरफ से होता है इसीलिए किसान क्रेडिट कार्ड सुविधा सबसे अच्छी सुविधा है इसमें किसान को 50000 से 300000 तक का कर्ज दिया जाता है जिसके ब्याज दर छहः माह तक 4% तथा एक साल के लिए 7% परसेंट होती है जो किसानों के लिए बहुत ही अच्छी है इस किसान क्रेडिट कार्ड की वजह से किसान अपनी फसल का बीमा भी करवा सकते हैं जिस किसी भी कारण से अपनी फसल नष्ट होने पर उनको मुआवजा भी दिया जाता है जैसे बाढ़ की स्थिति में फसल का डूब के नष्ट हो जाना या सूखा पड़ने पर फसल का जल जाना आदि सुविधाओं में यह किसान क्रेडिट कार्ड बहुत ही ज्यादा काम आता है इसकी वजह से किसान लाभ उठा सकता है

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत बीमा[संपादित करें]

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत KCC धारक को व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर भी प्रदान किया जाता है | जो इस प्रकार है - मृत्यु पर ₹50000 , विकलांगता पर ₹25000 , इस योजना के अंतर्गत 70 वर्ष तक कवर प्रदान किया जाता है |

ये कार्ड सिर्फ किसानो के लिए