कामिकागम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कामिकागम या कामिकातन्त्र १२वीं शताब्दी में रचित एक सम्स्कृत ग्रन्थ है। यह शैवसिद्धान्त नामक सम्प्रदाय का ग्रन्थ है। इसके दो भाग हैं- पूर्वभाग तथा उत्तरभाग। अध्यायों की कुल संख्या ७५ है।