कांटीकरंज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कांटीकरंज
Caesalpinia bonduc
Caesalpinia bonduc inflo.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
Kingdom: पादप
अश्रेणीत: पुष्पी पादप (Angiosperms)
अश्रेणीत: युडिकॉट​ (Eudicots)
अश्रेणीत: रोज़िड (Rosids)
गण: फ़ाबालेस (Fabales)
कुल: फ़बासिए (Fabaceae)
उपकुल: सेसलपिनिओडिए (Caesalpinioideae)
वंश: सेसलपिनिया (Caesalpinia)
जाति: C. bonduc
द्विपद नाम
Caesalpinia bonduc
(L.) रॉक्स्बर्ग

कांटीकरंज या लताकारंज या कड़वा बदाम सेसलपिनिया वंश में एक सपुष्पक वनस्पति की [जीववैज्ञानिक जाति]] है। यह एक लता की भांति ६ मीटर (२० फ़ूट) तक दूसरे वृक्षों पर चढ़ सकने वाला एक झाड़ीनुमा वनस्पति है। इसके तनों पर मुड़े हुए कांटे-जैसे ढांचे होते हैं।[1]

पारम्परिक प्रयोग[संपादित करें]

आयुर्वेद में कांटीकरंज को ज्वर उतारने, जोड़ों के दर्द के निवारण के लिए और ख़ासी से राहत-प्राप्ति के लिए प्रयोग करा जाता है। इस कारण से इसे अंग्रेज़ी में "फ़ीवर नट" (ज्वर-बदाम, fever nut) भी कहा जाता है।[2]

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Taxon: Caesalpinia bonduc (L.) Roxb.". Germplasm Resources Information Network. United States Department of Agriculture. 2006-10-26. http://www.ars-grin.gov/cgi-bin/npgs/html/taxon.pl?50012. अभिगमन तिथि: 2010-12-06. 
  2. "Ayurvedic Pharmacopoeial Plant Drugs: Expanded Therapeutics," C. P. Khare, CRC Press, 2015, ISBN 9781466590007