कम्बोडिया का इतिहास

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कम्बोडिया के इतिहास की जड़े भारतीय सभ्यता से जुड़ी हुई हैं। वर्तमान समय में कम्बोडिया के अधीन जो भूभाग है, उस भूभाग के राजनीतिक संरचना सम्बन्धी दस्तावेज फुनान नामक चीनी इतिवृत्त में मिलता है। इसमें इन्डोचीन पेनिन्सुला के सबसे दक्षिणी भाग का पहली शताब्दी से ६ठी शताब्दी तक का इतिहास है। फुनान सबसे प्राचीन स्थानीय हिन्दू संस्कृति थी जिसका केन्द्र निचला मेकांग था। इससे पता चलता है कि भारतीय प्रभाव वाले क्षेत्रों के साथ इसका बहुत दिनों से सामुद्री व्यापार और सामाजिक-आर्थिक सम्बन्ध था। ६ठी शताब्दी तक चेनला या झेनला नामक नयी सभ्यता आयी और उसने फुनान का स्थान लिया।

खमेर साम्राज्य की स्थापना ९वीं शताब्दी के आरम्भिक काल में हुई। सन ८०२ ई में महेन्द्र पर्वत पर जयवर्मन द्वितीय का राज्याभिषेक हुआ।

सन्दर्भ[संपादित करें]