ओवो-शाकाहारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ओवो शाकाहार एक विशेष प्रकार का शाकाहार है जिसमें अण्डे शामिल होते हैं लेकिन दुग्ध उत्पाद नहीं।

बहुत से लोगो के मन मे ये विचार उत्पन्न होता है की वो अण्डा खाते है फ़िर भी क्या वो शाकाहारी हैं?कई शाकाहारी लोग अंडे को मांसाहारी समझकर नहीं खाते। उनका लॉजिक होता है कि चूंकि अंडे मुर्गी देती है, इस कारण वो नॉन-वेज है। लेकिन अगर ऐसी बात है तो दूध भी जानवर से ही निकलता है, तो वो शाकाहारी कैसे है? अगर आपको ऐसा लगता है कि अंडे से बच्चा निकल सकता था, इस कारण वो मांसाहारी है, तो आपको बता दें कि बाजार में मिलने वाले ज्यादातर अंडे अनफर्टिलाइज्ड होते हैं। इसका मतलब, उनसे कभी चूजे बाहर नहीं आ सकते। इस गलतफहमी को दूर करने के लिए वैज्ञानिकों ने भी साइंस के जरिए इस सवाल का जवाब देने की कोशिश की है। उनके मुताबिक, अंडा शाकाहारी होता है।

यह तो हर किसी को पता है कि अंडे के तीन हिस्से होते हैं- छिलका, अंडे की जर्दी और सफेदी। रिसर्च के मुताबिक, अंडे की सफेदी में सिर्फ प्रोटीन मैजूद होता है। उसमें जानवर का कोई हिस्सा मौजूद नहीं होता। ता कारण,तकनीकी रूप से एग वाइट शाकाहारी होता है।