एलेक्ट्रा मनोग्रंथि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

एलेक्ट्रा मनोग्रंथि (Electra complex) मनोविश्लेषणवादियों की एक धारणा है जो पिता और पुत्री के बीच यौनाकर्षण से संबंधित है। इस धारणा के अनुसार जैसे पुत्र स्वभावत: माँ की ओर आकर्षित होता है वैसे ही पुत्री का पिता की ओर संवेगात्मक तथा कामुक प्रकार का आकर्षण रहता है।

फ्रायड ने सर्वप्रथम ग्रीक मिथक 'ईदिपस' के आधार पर ईदिपस मनोग्रंथि तथा एलेक्ट्रा मनोग्रंथि की परिकल्पना प्रस्तुत की थी और बताया था कि जिस लड़की का पिता की ओर कामात्मक रुख अथवा रुझान होता है, वह निश्चित ही एलेक्ट्रा मनोग्रंथि से पीड़ित रहती है। ऐसी लड़की का वैवाहिक जीवन या तो पूरी तरह असफल हो जाता है अथवा दु:खपूर्ण रहता है क्योंकि अवचेतन मन से अपने पति में पिता के गुण, लक्षण आदि खोजती है और उनके न मिलने पर हताश हो जाती है। परंतु जैविकी तथा कायिकी संबंधी आधुनिक अनुसंधानों से फ्ऱायड की उक्त परिकल्पना को सिद्ध नहीं किया जा सता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]