एनोडीकरण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
इन कार्बाइनरों से सतह को एनोडीकृत करने के उपरान्त रंग दिया गया है।

एनोडीकरण (Anodizing या anodising) एक प्रक्रिया है जिसमें विद्युत-धारा का उपयोग करके किसी धातु के सतह पर स्थित प्राकृतिक आक्साइड के स्तर को और अधिक मोटा किया जाता है। एनोडिकरण ( Anodizing ) एल्युमीनियम की धातु के पृष्ठभाग पर हवा की ऑक्सीजन के साथ अभिक्रिया होने से प्राकृतिक रूप से एक संरछक परत निर्मित होती है ।एनोडीकरण प्रक्रिया दवारा यह परत वांछित मोटाई की बनाई जा सकती है ।विद्युत अपघटन ।उदधति का उपयोग करके एनोडीकरण किया जाता है ।विद्युत अपघटन सेल में तनु अम्ल लेकर उसमें एल्युमीनियम की वस्तु को धनाग्र के रूप में डुबाते हैं ।विद्युत प्रवाह शुरू करने पर ऋणाग्र के पास हाइड्रोजन गैस तो धनाग्र के पास आक्सीजन गैस मुक्त होती है ।ऑक्सीजन के साथ अभिक्रिया होने से एल्युमीनियम वस्तु रूपी धनाग्र पर हाइड्रेटेड एल्युमीनियम ऑक्साइड की परत तैयार होती है ।इस बीच सेल में रंग डालकर इस परत को आकर्षक बनाया जा सकता है ।