एनजीसी 206

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

एनजीसी 206 हमारी समीपवर्ती मंदाकिनी एंड्रोमेडा में एक चमकीला तारों का बादल है। पृथ्वी से देखने पर एंड्रोमेडा में यह सबसे चमकीला दिखता है।

विशेषताएँ[संपादित करें]

एनजीसी-206 एंड्रोमेडा आकाशगंगा में सबसे समृद्ध और सबसे विशिष्ट तारकीय मेघ है, साथ ही मन्दाकिनियों के स्थानीय समूह में सबसे विशाल और चमकीला तारकीयसृजन क्षेत्रों (star formation region) में से एक है। इसमें 300 से अधिक तारे ऐसे है जिनकी चमक Mb=-3.6 से अधिक है। इसकी पहचान मूल रूप से एडविन हबल द्वारा एक स्टार क्लस्टर (तारों का गुच्छा) के रूप में की गयी थी , लेकिन वर्तमान में यह एक ओबी एसोसिएशन के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। [4] 

एनजीसी-206 , एंड्रोमेडा आकाशगंगा के एक सर्पिल बांह में स्थित है, यह क्षेत्र अनावेशित हाइड्रोजन से मुक्त है। इस क्षेत्र की एक प्रकार की दोहरी संरचना है। एक क्षेत्र जिसकी आयु लगभग 100 लाख वर्ष है तथा इसकी सीमाये H-II क्षेत्र से बनी हैं। दूसरे क्षेत्र की आयु लगभग 4 करोड़ वर्ष और 5 करोड़ के बीच है जिसमे cepheids की संख्या भी शामिल है। दोनों भाग एक अंतरतारकीय धुलों के एक बैंड से विभाजित है, इसमें सैकड़ों स्पेक्ट्रल टाइप ओ और बी तारे भी है।

बाह्य स्त्रोत [संपादित करें]

References[संपादित करें]