एक हसीना थी (2003 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एक हसीना थी
चित्र:एक-हसीना-थी.jpg
निर्देशक श्रीराम राघवन
निर्माता राम गोपाल वर्मा
लेखक श्रीराम राघवन
पूजा लाधा सूर्ती
अभिनेता उर्मिला मातोंडकर
सैफ़ अली ख़ान
सीमा बिस्वास
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • जनवरी 16, 2004 (2004-01-16)
समय सीमा 120 मिनट
देश भारत
भाषा हिन्दी
कुल कारोबार ₹ 80,000,000

एक हसीना थी 2004 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है।

संक्षेप[संपादित करें]

सरिता वार्तक उर्मिला मातोंडकर, एक साधारण ट्रैवल एजेंट एक नौजवान व्यवसायी करन राठौड़ सैफ़ अली ख़ान से मिलती है और उसे उससे प्यार हो जाता है। एक दिन करन का एक दोस्त उसे एक बैग संभाल कर रखने के लिये देता है। बाद में पुलिस सरिता के घर धावा बोलती हौ और उस बैग से अवैध हथियार बरोमद करती है। करन का वकील कमलेश माथुर आदित्य श्रीवास्तव सरिता को फुसलाकर इस अपराध में शामिल होने की बात मनवा लेता है। इसके तहत सरिता को ७ साल की सजा हो जाती है। सरिता को अपनी गलती का अहसास होता है पर तब तक काफी देर हो चुकी थी। जेल में एक साथी प्रमिला प्रमिला काज़मी की मदद से वह जेल से बाहर निकलती है और करन के साथ बदला लेने के खतरनाक खेल को शुरु करती है।

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]