एकैकी फलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एकैकी फलन (किन्तु यह बाइजेक्टिव नहीं है)
एकैकी फलन जो बाइजेक्टिव भी है।
अनैकैकी फलन - जो वस्तुतः 'सर्जेक्टिव' है।

गणित में ऐसे फलन एकैकी फलन या अंतःक्षेपी कहलाते हैं जो डोमेन के एक से अधिक अवयवों को सहडोमेन के एक ही अवयव से प्रतिचित्रण नहीं करते। दूसरे शब्दों में, सहडोमेन का प्रत्येक अवयव डोमैन के अधिकतम एक अवयव से ही प्रतिचित्रित होता है। यदि कोई फलन एकैकी होने के अलावा यह भी शर्त पूरा करता है कि कोडोमेन के सभी अवयव डोमेन के किसी न किसी अवयव से प्रतिचित्रित हों, तो ऐसे फलन को बाइजेक्टिव फलन कहते हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]