इवान अलेक्सँद्रोविच गोंचारोब

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
इवान गोंचारोब

इवान अलेक्सँद्रोविच गोंचारोब (रूसी: Ива́н Алекса́ндрович Гончаро́в, Ivan Aleksandrovich Goncharov; 18 जून 1812 – 27 सितम्बर 1891) प्रसिद्ध रूसी उपन्यासकार एवं लेखक थे। उनके 'अ कॉमन स्टोरी' (A Common Story (1847)) और ओब्लोमोव (1859) बहुत प्रसिद्ध हैं।

इवान गोंचारोब का जन्म सिंबिर्स्क में तथा मृत्यु पेतेर्बुर्ग में हुई। उन्होने मॉस्को विश्वविद्यालय के सहित्य विभाग में शिक्षा प्राप्त की। साहित्यिक कार्य का आरंभ १८३५ में हुआ। समुद्री जहाज से भ्रमण करने पर गोंचारोव ने 'जहाज पल्लादा' नामक यात्रा साहित्य की प्रसिद्ध कृति लिखी। गोंचारोव ने तीन विख्यात उपन्यास लिखे - 'मामूली कहानी' (१८४७), "ओब्लोमोव" (१८५९) और 'खड़ी चट्टान' (१८६९)। इन कृतियों में तत्कालीन रूस के वर्णन हैं: समाज के दो पहलुओं के प्रतिनिधियों आलसी राजदरबारी जमींदारों और सक्रिय पूँजीवादियों के प्रतिबिंब हैं। उपन्यासों के नारी पात्रों में तत्कालीन रूसी समाज के प्रगतिशील विचारों का सजीव चित्रण मिलता है। गोंचारोव ने अनेक आलोचनात्मक कृतियाँ भी लिखीं जो ग्रिबोएदोव, बेलिंस्की आदि रूसी लेखकों से संबंधित हैं।