आलेख

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सांख्यिकी में प्रारम्भिक आंकड़ों को निरूपित करने के लिए चित्रों आदि का प्रयोग करके द्वितीयक आंकड़े प्राप्त करके उनका अध्ययन करना एक महत्वपूर्ण कार्य है। इसके अंतर्गत आंकड़ों का आलेखीय निरूपण तीन प्रकार से कर सकते हैं।

दंड आलेख
दंड आलेख

दंड आलेख[संपादित करें]

दंड आलेख - यह आंकड़ों का एक चित्रीय निरूपण होता है जिसमे प्रायः एक अक्ष (मान लीजिए x अक्ष ) पर एक चर को प्रकट करने वाले एक समान चौड़ाई के दंड खींचे जाते है। दूसरे चर के मान दूसरे अक्ष (मान लीजिए y अक्ष) पर दिखाए जाते हैं। दण्डों की ऊंचाई चर के मान पर निर्भर करती है।

आयत चित्र
आयत चित्र

आयत चित्र[संपादित करें]

आयत चित्र - आयत चित्र वर्गीकृत व सतत बारम्बारता बंटन का आयतीय निरूपण है।

बारम्बारता बहुभुज(आयत चित्र).
बारम्बारता बहुभुज(आयत चित्र).

बारम्बारता बहुभुज[संपादित करें]

बारम्बारता बहुभुज - यह भी आलेखीय निरूपण का एक प्रकार है। बारम्बारता बहुभुज का निर्माण दो प्रकार से किया जाता है - आयत चित्र के माध्यम से व बिना आयत चित्र के माध्यम से।[1]

बारम्बारता बहुभुज (बिना आयत चित्र)
बारम्बारता बहुभुज(बिना आयत चित्र)


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. राजस्थान राज्य पाठ्यपुस्तक मंडल ,जयपुर कक्षा ९ गणित