आरएमएस क्वीन मैरी 2

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

class="infobox " style="float: right; clear: right; width: 315px; border-spacing: 2px; text-align: left; font-size: 90%;" | colspan="2" style="text-align: center; font-size: 90%; line-height: 1.5em;" | QM2 passing Calshot Spit light.JPG
Queen Mary 2, leaving Southampton on her maiden voyage. |- ! height="30" style="background-color: #B0C4DE; text-align: center; vertical-align: middle; font-size: 110%;" | देश

! style="background-color: #B0C4DE; text-align: center; vertical-align: middle; font-size: 110%;" ||- ! colspan="2" height="30" style="background-color: #B0C4DE; text-align: center; vertical-align: middle; font-size: 110%;" | सामान्य विशेषताएँ |} आरएमएस क्वीन मैरी 2 एक ट्रांसअटलांटिक समुद्री लाइनर है। यह पहला प्रमुख समुद्री लाइनर था जिसे 1969 में साँचा:RMSके बाद से बनाया गया। कर्नाड लाइन के प्रमुख जहाज के रूप में इसने सफलता प्राप्त की। इस जहाज का नाम पहले साँचा:RMSके बाद 2004 में रानी एलिज़ाबेथ IIके द्वारा दिया गया, यह 1936 में पूरा किया गया। क्वीन मैरीका नाम किंग जॉर्ज Vकी पत्नी मैरी ऑफ़ टेक के नाम पर दिया गया। 2008 में रानी एलिज़ाबेथ 2की सेवानिवृति के बाद से, क्वीन मैरी 2वर्तमान में एकमात्र ट्रांस अटलांटिक समुद्री लाइनर है, जो सक्रिय है। हालांकि जहाज का उपयोग अक्सर क्रूज़ (समुद्री यात्रा) के लिए किया जाता है, इसमें वार्षिक विश्व क्रूज़ शामिल है।[8]2003 में चेंटीयर्स डे एल' अटलांटिक के द्वारा इसके निर्माण के समय, क्वीन मैरी 2तब तक का सबसे लम्बा, सबसे चौड़ा और सबसे ऊंचा यात्री जहाज था और अपने साँचा:GTके साथ सबसे बड़ा जहाज भी था। अक्टूबर 2009 में इसी कम्पनीसाँचा:GTसाँचा:MSके द्वारा अप्रैल 2006 में रॉयल केरिबियन इंटरनेश्नलसाँचा:GTसाँचा:MSका निर्माण किया गया, इसके बाद यह सबसे बड़ा जहाज नहीं रहा। हालांकि, क्वीन मैरी 2अब तक का सबसे बड़ा समुद्री लाइनर (क्रूज़ जहाज के की तरह) है। क्वीन मैरी 2को प्राथमिक रूप से अटलांटिक महासागर को पार करने के लिए बनाया गया था, इसीलिए इसका डिजाइन अन्य यात्री जहाजों से हटकर बनाया गया। जहाज की अंतिम लगत लगभग $300,000 प्रति बर्थ आई, जो कई समकालीन क्रूज़ जहाजों से लगभग दोगुनी थी। इसका कारण था कि इसका आकार बड़ा था, इसमें उच्च गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग किया गया था और एक समुद्री (महासागरीय) लाइनर के रूप में डिजाइन किये जाने के कारण इसे बनाने के लिए एक मानक क्रूज़ जहाज की तुलना में 40 प्रतिशत अधिक स्टील का उपयोग किया गया।[9]इसकी अधिकतम गति 29.62 knots(54.86 km/h; 34.09 mph) है और क्रुज़िंग गति 26 knots(48 km/h; 30 mph) है, जो किसी भी अन्य समकालीन क्रूज़ जहाज की तुलना में अधिक है, जैसे ओएसिस ऑफ़ द सीज़, जिसकी क्रुज़िंग गति 22.6 knots (41.9 km/h; 26.0 mph) है। कई जहाजों पर प्रयुक्त किये जाने वाले डीज़ल-इलेक्ट्रिक विन्यास के बजाय, क्वीन मैरी 2में अधिकतम गति को प्राप्त करने के लिए CODLAG विन्यास (संयुक्त डीज़ल-इलेक्ट्रिक और गैस) का उपयोग किया गया है। इसमें डीज़ल जनरेटर ऑनबोर्ड के द्वारा दी गयी पावर को बढ़ाने के लिए अतिरिक्त गैस टरबाइन का उपयोग किया जाता है, जिससे जहाज अपनी अधिकतम गति को प्राप्त कर लेता है। क्वीन मैरी 2'की सुविधाओं में पंद्रह रेस्तरां और बार, पांच स्विमिंग पूल, एक कैसिनो, एक बॉलरूम, एक थियेटर और पहला समुद्री प्लेनेटोरियम (तारामंडल)शामिल हैं। इसमें ऑनबोर्ड कैनल और एक नर्सरी भी है। क्वीन मैरी 2उन कुछ जहाज़ों में एक है जिसमें ऑनबोर्ड दर्जा प्रणाली (Claas system) का उपयोग किया जाता है, इसे सबसे मुख्य रूप से इसके भोजन विकल्प में देखा जा सकता है।

अनुक्रम

नाम: RMS Queen Mary 2
स्वामी: Cunard Line[1]
Operator: Cunard Line
Port of registry: यूनाइटेड किंगडम Southampton, United Kingdom
Ordered: 6 नवम्बर 2000
निर्माता: STX Europe Chantiers de l'Atlantique, Saint-Nazaire, France
Cost: UK £460 million
 (700 million)
 (US US$900 million)
Yard number: G32[2]
निर्दिष्ट: 4 जुलाई 2002
लांच: 21 मार्च 2003
Christened: 8 जनवरी 2004
by HM The Queen
Completed: 23 दिसम्बर 2003
Maiden voyage: 12 जनवरी 2004
Identification: साँचा:IMO Number, Callsign GBQM
स्थिति: साँचा:Ship in active service
प्रकार: Ocean liner
टनधारिता: 151,400 gross tons[3][4]
विस्थापन: 76,000 tonnes (approx)
लम्बाई: 1,132 ft (345 m)
Beam: 135 ft (41 m) waterline,
 147.5 ft (45.0 m) extreme (bridge wings)
Height: 236.2 ft (72.0 m) keel to (top of) funnel
Draught: 33 ft (10.1 m)
Decks: 13 passenger, 17 total decks[5][6]
Installed power: 4 x Wärtsilä 16V 46C-CR / 16.800 kW (22.848 mHP), 2 x GE LM2500+ / 25.060 kW (34.082 mHP)
Propulsion: Four 21.5 MW Rolls-Royce/Alstom "Mermaid" electric propulsion pods:
 2 fixed and 2 azimuthing
चाल: 29.62 knots (54.86 km/h; 34.09 mph)[7]
Capacity: 3,056 passengers
Crew: 1,253 officers and crew
टिप्पणी: Largest Ocean Liner ever.

लाक्षणिक विशेषताएं[संपादित करें]

क्वीन मैरी 2 वर्तमान में कर्नाड लाइन का प्रमुख जहाज है। इस जहाज को पुराने हो गए साँचा:RMS को प्रतिस्थापित करने के लिए बनाया गया था, जो 1969 से 2004 तक कर्नाड का प्रमुख जहाज रहा। इस महासागरीय लाइनर को क्वीन मैरी 2 से पहले बनाया गया था।[10] क्वीन मैरी 2 को रॉयल मेल शिप (RMS) का खिताबा दिया गया, यह कर्नाड का एक ऐतिहासिक सम्मान था। यह सम्मान इसे रॉयल मेल के द्वारा 2004 में दिया गया जब इसने साउथेम्प्टन से न्यूयॉर्क के मार्ग पर अपनी सेवाएं शुरू कीं.[11]

क्वीन मैरी 2 अपने कई पूर्ववर्ती जहाजों की तरह एक स्टीम शिप नहीं है, लेकिन यह प्रमुख रूप से चार डीज़ल इंजनों तथा दो अतिरिक्त गैस टरबाइनों से पावर प्राप्त करता है। इन टरबाइनों का उपयोग तब किया जाता है जब अतिरिक्त पावर की आवश्यकता होती है; इस CODLAG विन्यास का उपयोग इसके चार विद्युतीय प्रणोदन पॉड्स को चलाने के लिए और जहाज की होटल सेवाओं को पावर की आपूर्ति करने के लिए किया जाता है। अपने पूर्ववर्ती क्वीन एलिज़ाबेथ 2 की तरह इसका निर्माण अटलांटिक महागर को पार करने के लिए किया गया था, हालांकि इसका उपयोग नियमित रूप से क्रुज़िंग (समुद्री यात्रा) के लिए किया जाता है; सर्दी के मौसम में यह दस से तेरह दिन के लिए न्युयोर्क से केरिबियन की यात्रा पर जाता है। क्वीन मैरी 2 ' की 30-knot (56 km/h; 35 mph) खुली समुद्री गति इस जहाज को अन्य यात्री जहाज़ों जैसे ओएसिस ऑफ़ द सीज़ से विभेदित करती है। जिसकी औसत गति 22.6 knots (41.9 km/h; 26.0 mph) है; क्वीन मैरी 2 ' की सामान्य गति 26 knots (48 km/h; 30 mph) है।[12]

डिजाइन और निर्माण[संपादित करें]

चित्र:QM2-1.jpg
क्वीन मैरी 2 निर्माणाधीन, दायीं अग्रभूमि में इसका राडार मास्ट.

कर्नाड ने साँचा:GT के एक नए वर्ग के लिए एक डिजाइन पूरा किया, इस वर्ग में 8 जून 1998 को 2000 यात्री जहाज़ों के डिजाइन को पूरा किया गया। लेकिन कार्निवल क्रूज़ लाइन के साँचा:GT डेस्टिनी वर्ग के यात्री जहाज़ों और रॉयल केरिबियन इंटरनेश्नल के साँचा:GT वोयागर वर्ग के साथ विनिर्देशनों की तुलना करने पर इनमें संशोधन किया गया।[13]

दिसंबर 1998 में, कर्नाड ने प्रोजेक्ट क्वीन मैरी की विवरण को जारी किया, यह परियोजना एक लाइनर के विकास के लिए थी, जो क्वीन एलिज़ाबेथ 2 का पूरक था। उत्तरी आयरलैंड के हरलैंड और वोल्फ, नोर्वे के एकर क्वानेर, इटली के फिनकेंटिअरी, जर्मनी के मेयर वर्फ्ट और फ़्रांस के चेन्तियर डे अटलांटिक को इस परियोजना पर बोली लगाने के लिए आमंत्रित किया गया। अंततः 6 नवम्बर 2000 को आल्सटॉम की सब्सिडरी, चेंतियार्स डे एल अटलांटिक के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किये गए। यह वाही यार्ड था जिसे कर्नाड के पूर्व प्रतिद्वंद्वियों, कम्पेनी जनराले ट्रांस अटलांटिके के साँचा:Ship और साँचा:Shipके द्वारा बनाया गया था।[13]

इसकी कील को हल नंबर जी 32 के साथ, सेंट नजायरे, फ्रांस में 4 जुलाई 2002 को लुईस जोबर्ट लॉक में लगाया गया। लगभग 3,000 कारीगरों ने जहाज पर लगभग आठ मिलियन घंटे काम किया और लगभग 20,000 लोग प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इसके डिजाइन, विनिर्माण और फिटिंग में शामिल थे। कुल मिलाकर, स्टील के 300000 टुकड़ों को मिलाकर ड्राईडॉक के 94 "ब्लॉक" बनाये गए, इन ब्लॉक्स को वेल्डिंग करके पूरा हल और सुपर सरंचना का निर्माण किया गया।[14]

क्वीन मैरी 2 ने 21 मार्च 2003 को पानी में यात्रा शुरू की। इसके समुद्री परीक्षण का सञ्चालन 25 सितम्बर-29 सितम्बर और 7-11 नवम्बर 2003 के बीच,[15] सेंट-नजायरे और इले डे यू और बेले-ले के तट के बीच किया गया। निर्माण के अंतिम चरण 15 नवम्बर 2003 को एक घातक दुर्घटना हुई, जब एक गेंग्वे शिपयार्ड कर्मचारियों के समूह से टकरा गया, इस समूह में इन लोगों के रिश्तेदार भी थे जिन्हें पोत यात्रा के लिए आमंत्रित किया गया था। ड्रायडॉक में 15-metre (49 ft) के गिरने के बाद कुल 32 लोग घायल हुए और 16 लोगों की जान चली गयी।[16]

निर्माण कार्य समय पर पूरा कर लिया गया। इस जहाज की अंतिम लागत 300,000 अमेरिकी डॉलर प्रति बर्थ आयी, जो कई बड़े यात्री जहाजों की तुलना में लगभग दोगुनी थी। इसका कारण यह था कि जहाज में उच्च गुणवत्ता की समग्री का उपयोग किए गया था और इसका अकार बहुत बड़ा था, एक महासागरीय लाइनर के रूप में डिजाइन किये जाने के कारण इसमें एक मानक क्रूज़ जहाज की तुलना में 40 प्रतिशत अधिक स्टील का उपयोग किया गया था।[9] कनार्ड ने 26 दिसम्बर 2003 को साउथएम्प्टन, इंग्लैंड में डिलीवरी ली। 8 जनवरी 2004 को लाइनर को महारानी एलिज़ाबेथ II के द्वारा नाम दिया गया।[17][18]

बाहरी सरंचना[संपादित करें]

क्वीन मैरी 2 के आकार की [52] से तुलना को दर्शाता हुआ चित्र, एक मनुष्य, एक कार, एक बस और एक एयरबस A380 एयर लाइनर.

क्वीन मैरी 2 ' के प्रमुख नौसैनिक आर्किटेक्ट कार्निवाल हाउस के डिजाइनर, स्टीफन पायने थे।[19] पायने पूर्व समुद्री लाइनर जैसे क्वीन एलिजाबेथ 2 और जहाज के पूर्ववर्ती क्वीन मैरी के प्रमुख पहलुओं को मिलाकर जहाज का डिजाइन बनाना चाहते थे। इन लाक्षणिक गुणों में तीन काली लाइनें शामिल थीं जो जहाज के ब्रिज स्क्रीन पर और सुपर सरंचना के स्टर्न अंत के चारों और लपेटी हुई सी थीं, यह पहले क्वीन मैरी की डेक से मिलती जुलती थीं।[20]

क्वीन मैरी 2 में बाहरी डेक स्थान का 14,164-square-metre (3.500-acre) है और यात्रियों को सुरक्षा देने के लिए विंड शील्ड है, क्योंकि जहाज बहुत तेज गति से यात्रा करता है। जहाज के पांच स्वीमिंग पुलों में से चार आउटडोर हैं (हालांकि इनमें से एक केवल एक इंच गहरा है जिसे छोटे बच्चों के उपयोग के लिए बनाया गया है). डेक 12 पर मौजूद एक पूल को एक आयताकार मेग्रोडोम से कवर किया गया है। इनडोर पूल डेक 7 पर, केन्यन रैंच स्पा क्लब में है।[21]

सभी लाइनर्स में इसमें साँचा:Ship है, जिसे डेक 7 पर प्रोमेनाडे डेक के चारों और लपेटा हुआ सा है। प्रोमेनाडे पुल की स्क्रीन के पीछे से होकर गुजरता है और यात्री पूरी डेक पर घूम फिर सकते हैं, इस दौरान यह जहाज की तेज गति के बावजूद तेज हवाओं से यात्रियों की रक्षा करता है। प्रोमेनाडे का एक सर्किट 620 m (2,030 ft) की दूरी पर है। फलेन्किंग प्रोमेनाडे इस सुपर सरंचना के लिए जरुरी था, यह जीवन रक्षक नौकाओं के लिए स्थान उपलब्ध कराता है। सोलास मानकों के अनुसार, जीवन रक्षक नौकाएं जहाज के पतवार (हल) पर नीचे की तरफ होनी चाहिए (जलरेखा के ऊपर 15 m (49 ft)), परन्तु क्वीन मैरी 2 के लिए ' इसका अच्छा दिखना जरुरी था और साथ ही यह ध्यान रखना भी जरुरी था कि एक तूफ़ान के दौरान बड़ी उत्तरी अटलांटिक लहरें नौकाओं को नुकसान न पहुंचा सकें, इनके खतरे से सुरक्षित रहें. पायने ने सोलास के अधिकारीयों को इस बात के लिए तैयार कर लिया कि क्वीन मैरी 2 को इस जरुरत से मुक्त रखा जाएगा और नौकाओं को 25 m (82 ft) जलरेखा के ऊपर बनाया जाएगा.[22]

शुरू में पायने का इरादा था कि जहाज को एक चम्मच की आकृति में बनाया जाये, जैसा कि अधिकांश पिछले महासागरीय लाइनर में किया गया था, लेकिन प्रोपेलर पॉड्स को लगाने के लिए एक चपटी आकृति बनाना जरुरी था। दो के संयोजन से कोन्सटानज़ी स्टर्न में समझौता करना पडॉ॰ अंतिम डिजाइन को सहमति मिल गयी, क्योंकि एक मानक ट्रांसोम स्टर्न के बजाय कोन्सटानज़ी स्टर्न जहाज को बेहतर लाक्षणिक विशेषताएं देता था।[23] अधिकांश अन्य आधुनिक जहाज़ों (यात्री और कार्गो दोनों प्रकार के) की तरह, क्वीन मैरी 2 में बल्बनुमा सरंचना झुकी हुई है, जो खिंचाव को कम करके, गति, रेंज और इंधन दक्षता को बढ़ाती है।[24]

क्वीन एलिज़ाबेथ 2 की तरह क्वीन मैरी 2 के फनल को को कुछ अलग आकृति में डिजाइन किया गया था। ' यह अंतर जरुरी था क्योंकि पोत की उंचाई अधिक थी, इसलिए अगर लम्बी फनल बनायी जाती तो जहाज ज्वार के दौरान न्यूयोर्क शहर में वेरान्ज़ो के संकरे पुल के नीचे से होकर नहीं गुजर पाता. अंतिम डिजाइन को अब न्यूनतम 13 feet (4.0 m) के लिए अनुमति मिल गयी, यह ज्वार के दौरान पुल के नीचे से होकर गुजर सकता था।[25]

क्वीन मैरी 2 का आकार इतना बड़ा है कि इसे कई बंदरगाहों पर नहीं उतारा जा सकता, यात्रियों को ऐसे तटों पर उतारने के लिए जहाज के अन्दर बनायी गयी नौकाओं का उपयोग किया जाता है, इन नौकाओं का उपयोग आपातकालीन स्थिति में जीवन रक्षक नौकाओं के रूप में किया जा सकता है। समुद्र में रहने के दौरान इन्हें जीवन रक्षक नौकाओं के साथ डेविट में रखा जाता है। यात्रियों को किनारों तक ले जाने के लिए, चार लोडिंग स्टेशनों पर नौकाओं को उतारा जाता है, इनमें से प्रत्येक में एक बड़ा दरवाजा है, जो हाइड्रोलिक दबाव के साथ बाहर की ओर खुलता है और एक बोर्डिंग प्लेटफोर्म बनाता है, इसमें रेलिंग और डेकिंग भी होती है।[12]

क्वीन मैरी 2 एक पोस्ट-पेनामेक्स जहाज है। इसके परिणामस्वरूप, क्वीन मैरी 2 को अटलांटिक और प्रशांत के बीच पार होने के लिए दक्षिण अमेरिका में होकर जाना चाहिए। पनामा नहर को पार करने के लिए इसके आकार को निर्धारित किया गया क्योंकि क्वीन एलिज़ाबेथ 2 साल में 1 बार केवल दुनिया की यात्रा के दौरान ही यहां से गुजरता है। कनार्ड ने यात्री क्षमता को बढ़ाने के लिए एक ऐसा मार्ग भी पारित किया, जिसका उपयोग कभी कभी किया जा सकता है।[26]

आंतरिक संरचना[संपादित करें]

QM2 पियर 12 पर

अधिकांश अन्य आधुनिक यात्री जहाजों की तरह, क्वीन मैरी 2 पर कई सार्वजनिक कमरे जहाज के सबसे नीचले डेक पर बनाये गए हैं, जिसके ऊपर यात्री केबिन बनाये गए हैं।[27] यह महासागरीय लाइनरों की पारम्परिक प्रथा के विपरीत है, लेकिन इसके डिजाइन के अनुसार मजबूत पतवार के भीतर बड़े कमरे हैं, साथ ही यात्री केबिनों में निजी बालकोनी हैं, जो जहाज में काफी उंचाई पर हैं, जहां तक तरंगों का प्रभाव कम पड़ता है। पायने दो प्रमुख सार्वजनिक कमरों के डेक के लिए एक केन्द्रीय अक्ष का निर्माण करना चाहते थे, (नोरमेंडी की तरह), लेकिन पूरा विस्टा भिन्न सार्वजानिक कमरों के द्वारा टुटा हुआ है जिससे ऐसा संभव नहीं हो पाया। डाइनिंग रूम को पिछवाड़े के सामने वाले हिस्से में बनाया गया हालांकि इन्हें सीधे स्टर्न पर नहीं बनाया गया था, जहां जहाज की अगली और पिछली पिचिंग स्पष्ट रूप से दिखाई देती हो और जहां पूर्ण गति पर प्रोपेलर से कम्पन खाना खाते हुए यात्रियों के लिए असुविधाजनक हो सकता है।[28]

सबसे नीचली यात्री डेक, डेक 2 में इल्यूमिनेशन थियेटर, सिनेमा और तारामंडल (समुद्र का पहला) है;[29] इसमें रॉयल कोर्ट थियेटर, ग्रैंड लॉबी; "एम्पायर कैसिनो"; "गोल्डन लायन पब"; और नीचले स्तर का "ब्रिटानिया रेस्तरां" है। डेक 3 में उपरी स्तर के "इल्यूमिनेशन", "रॉयल कोर्ट थियेटर" और "ब्रिटानिया रेस्तरां" हैं और एक छोटा शॉपिंग आर्केड, "वयूवे क्लिक़ुओत बार", "चार्ट रूम", "सर सेम्युल" का वाइन बार, "क्वीन'स रूम" और "जी 32 " नाईट क्लब हैं। अन्य प्रमुख सार्वजानिक डेक, डेक 7 है, जिस पर "केन्यन रेंच स्पा", विंटर गार्डन", "किंग्स कोर्ट", क्वीन्स ग्रिल लाउंज" और "क्वीन्स ग्रिल" और "प्रिंसेस ग्रिल" रेस्तरां हैं। ये सुविधाएं उच्च स्तरीय किराया चुकाने वाले यात्रियों के लिए हैं। डेक 8 पर सार्वजनिक कमरों में ला कार्टे टोड इंग्लिश रेस्तरां,[29] एक 8000-खंड पुस्तकालय,[30] एक बुक शॉप और केन्यन रेंच स्पा का उपरी हिस्सा है। डेक 8 पर स्टर्न के उपर एक बड़ा आउटडोर पूल और टेरेस है।[27] डेक 12 के स्टारबोर्ड पर स्थित केनल केवल ट्रांस अटलांटिक क्रॉसिंग के लिए उपलब्ध हैं। इनमें छह छोटे और छह बड़े पिंजरों में बारह कुत्ते और बिल्लियां रखे जा सकते हैं।[31]

QM2 हैम्बर्ग छोड़ते हुए.

जहाज पर किंग कोर्ट क्षेत्र दिन के चौबीस घंटे खुला रहता है, यह नाश्ते और दोपहर के भोजन के लिए एक बफेट रेस्तरां का काम करता है। कुल स्थान को क्वार्टर्स में बांटा गया है, हर सेक्शन को चार अलग खाने के स्थानों की थीम के अनुसार सुसज्जित किया गया है, इनमें से प्रत्येक में लाइटिंग, टेबल वेयर और मेन्यु का इंतजाम है: लोटस जो एशियाई व्यंजनों में विशेषता रखता है, कार्वेरी, एक ब्रिटिश शैली के व्यंजन उपलब्ध कराता है, ला पिआज़ा इटली के व्यंजन प्रस्तुत करता है; और शेफ'स गेलेरी, हर प्रकार के भोजन उपलब्ध कराता है।[32][33]

यात्रियों के भोजन का इंतजाम उनकी यात्रा के दर्जे के अनुसार किया जाता है। अधिकांश यात्री (लगभग 85 प्रतिशत) ब्रिटानिया दर्जे के होते हैं (इसलिए प्रमुख रेस्तरां में खाना खाते हैं). हालांकि, यात्री जूनियर सूट ("प्रिंसेस ग्रिल") या सूट ("क्वीन्स ग्रिल") में भोजन करने के लिए अपने दर्जे को बदल सकते हैं।[34][35] बाद की दो श्रेणियों को कनार्ड ने एक साथ "ग्रिल यात्रियों" में रखा, उन्हें "क्वीन्स ग्रिल लाउंज" का इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाती है और वे डेक 11 के निजी आउटडोर क्षेत्र का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।[27][36] यह सुविधा भी क्वीन विक्टोरिया और क्वीन एलिज़ाबेथ पर भी उपलब्ध है। हालांकि, अन्य सभी सार्वजनिक क्षेत्रों का उपयोग सभी यात्रियों के द्वारा किया जा सकता है। [37]

चूंकि ब्रिटानिया रेस्तरां दोनों डेक पर जहाज की पूरी चौड़ाई को घेरता है, एक ट्वीन डेक, जो डेक 3 एल कहलाती है, को इसलिए बनाया गया तकी यात्री डाइनिंग रूम से होकर गुजरे बिना ग्रांड लॉबी से क्वीन्स रूम में जा सकें. डेक में दो कोरिडोर हैं जो डेक 3 पर रेस्तरां की ऊपरी बालकोनी के नीचे से होकर जाते हैं, ये डेक 2 पर प्रमुख डाइनिंग रूम के ऊपर हैं। यही कारण है कि ब्रिटानिया में पतवार की ओर बढ़ते हुए स्तर बनाये गए हैं। इस व्यवस्था को पतवार पर चित्रित किया गया है, इस क्षेत्र में खिडकियों की तीन पंक्तियां हैं, जहां प्रमुख रेस्तरां है, ऊपर और नीचे वाली पंक्ति डाइनिंग रूम की है, बीच वाली पंक्ति डेक 3 एल की है। इसी तरह की व्यवस्था रॉयल कोर्ट थियेटर में भी की गयी है साथ ही, डेक 3 के दोनों और ऊपर की तरफ जाने वाले मार्ग प्रवेश द्वार से शुरू होकर कमरों की तरफ ले जाते हैं।[27]

5000 से अधिक प्रकार के कलात्मक कार्यों को क्वीन मैरी 2 ' के सार्वजनिक कमरों, कोरिडोर, स्टेट रूम और लॉबी में देखा जा सकता है, इन्हें सोलह अलग अलग राज्यों से 128 कलाकारों के द्वारा बनाया गया है।[38] इनमें सबसे उल्लेखनीय दो कलाकृतियां हैं बारबरा ब्रोक्मेन की टेपेस्ट्री, जिसमें एक महासागरीय लाइनर, पुल और न्युयोर्क स्काइलाइन के विवरण का सार दर्शाया गया है, इसे ब्रिटानिया रेस्तरां की पूरी उंचाई में बनाया गया है। दूसरी ग्रांड लॉबी में जॉन मेक केना की कांस्य शीट है, जो मूल क्वीन मैरी के प्रमुख डाइनिंग रूम में कलात्मक भित्ति चित्रों से प्रेरित है।[39]

तकनीकी प्रणाली[संपादित करें]

पावर प्लांट और प्रणोदन प्रणाली[संपादित करें]

क्वीन मैरी 2 ' का पावर प्लांट सोलह सिलिंडर वार्टसिला 16V46CR एन्विरो इंजन मरीन डीजल इंजनों से बना है जो एक संयुक्त 67,200 kW (90,100 hp) 514 rpm का उत्पादन करते हैं, तथा इसमें दो जनरल इलेक्ट्रिक LM2500+ गैस टरबाइन हैं जो संयुक्त रूप से 50,000 kW (67,000 hp) उपलब्ध कराते हैं। इस प्रकार की संयुक्त व्यवस्था CODLAG (संयुक्त डीज़ल इलेक्ट्रिक और गैस टरबाइन) कहलाती है, जो कम गति पर किफायती यात्रा उपलब्ध कराती है, साथ ही इसमें जरुरत पड़ने पर तेज गति प्राप्त करने की भी क्षमता होती है, नौसैनिक जहाज़ों में यह व्यवस्था आमतौर पर देखी जाती है।[12] क्वीन मेरी 2 पहला ऐसा यात्री जहाज है जिसमें CODLAG व्यवस्था है, गैस्क टरबाइन के द्वारा चलाये जाने वाला पहला यात्री जहाज 1977 में फिनिश फेरी फिनजेट था।[40]

चार रोल्स रॉयस मरमेड पोडेड प्रणोदन इकाइयों के द्वारा प्रणोद उपलब्ध कराया जाता है, इनमें से प्रत्येक कम कम्पन का कामेवा प्रणोदक होता है, जिसमें अलग से बोल्ट युक्त ब्लेड होते हैं। क्वीन मैरी 2 आगे की डेक पर आठ अलग ब्लेड्स ले जाता है, जो पुल स्क्रीन के ठीक आगे होते हैं। आगे के जोड़े स्थिर होते हैं लेकिन पिछला जोड़ा 360 डिग्री पर घूर्णन कर सकता है, जिससे रडर की जरुरत नहीं पड़ती है।[12] क्वीन मैरी 2 पहला क्वाडरुपल प्रणोदक यात्री जहाज है जिसे 1961 में एस एस फ़्रांस के बाद पूरा किया गया।[41]

आठ में से तीन स्पेयर प्रणोदक ब्लेड फोर्डेक पर लगाये गए।

अधिकांश आधुनिक यात्री जहाजों की तरह क्वीन मेरी 2 ' एक प्रणोदक मशीनरी है जो अपने प्रणोदकों से विद्युतीय रूप से अलग है और इसीलिए प्रणोदन व्यवस्था को "CODLAG इलेक्ट्रिक" के रूप में सटीकता से वर्णित किया जा सकता है (टर्बो-इलेक्ट्रिक और डीज़ल-इलेक्ट्रिक के सदृश). डीजल इंजन और गैस टर्बाइन विद्युत जनरेटर को चलते हैं, जो चार 21,500 kW (28,800 hp) आल्सटॉम विद्युतीय मोटरों को चलने के लिए पावर उपलब्ध कराते हैं। ये मोटरें पोडेड प्रणोदक के भीतर होती हैं (और इस प्रकार से जहाज की पतवार से पूरी तरह से बाहर होती हैं).[12] असामान्य रूप से, क्वीन मैरी 2 ' के गैस टरबाइन पतवार में इंजन रूम में डीज़ल के साथ नहीं रखे जाते, बल्कि इसके बजाय ठीक फनल के नीचे साउंड प्रूफ कक्ष में रखे जाते हैं। इस व्यवस्था के कारण टरबाइन को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकती है, इसके लिए हवा अन्दर आ जाती है और जहाज की पूरी उंचाई में एयर डक्ट को नहीं चलाना पड़ता, अगर एयर डक्ट लगनी पड़ती तो इसमें काफी जगह बेकार जाती.[12]

पानी की आपूर्ति[संपादित करें]

क्वीन मैरी 2 में मीठे पानी की आपूर्ति के लिए तीन संयत्र लगाये गए हैं जो समुद्री जल का अलवणीकरण करते हैं। हर संयत्र की क्षमता 630,000 litres (170,000 US gal) प्रति दिन है, ये बहुल प्रभावी प्लेट आसवन तकनीक का उपयोग करते हैं।630,000 litres (170,000 US gal) संयत्र को ऊर्जा प्रथमि रूप से भाप तथा जहाज के गैस टरबाइन और डीज़ल इंजन से ठन्डे जल के द्वारा उपलब्ध करायी जाती है, अगर जरुरत हो तो जहाज के दो तेल से चलने वाले बॉयलर का उपयोग किया जाता है। परंपरागत बहुल प्रभावी आसवन तकनीक में जहाज के संयत्र के लिए सुधार किया गया है, ताकि प्लेटों की स्केलिंग को कम किया जा सके, जिससे रखरखाव का खर्चा काफी कम हो जाता है। अलवणीकृत जल में लवण की मात्र बहुत कम होती है, यह प्रति मिलियन पांचवें हिस्से से भी कम होती है। औसत कुल जल उत्पादन 1,100,000 litres (290,000 US gal) प्रति दिन होता है, इसकी क्षमता 1,890,000 litres (500,000 US gal) लीटर की है, इसलिए पर्याप्त अतिरिक्त क्षमता है। दो या तीन संयंत्रों के द्वारा आसानी से जहाज को आपूर्ति की जा सकती है।[42] पेय जल के टैंक की क्षमता 3,830,000 litres (1,010,000 US gal) है जो तीन से ज्यादा समय के लिए पर्याप्त है।[43] अगर इंजन कम लोड पर चल रहा है (जब जहाज कम गति पर चल रहा है) इंजन की जैकेट के हित्लक जल का तापमान इतना पर्याप्त नहीं होता कि यह विलवणीकरण संयंत्र चलाने के लिए समुद्री जल को उष्मित कर सके। इस मामले में, तेल से चलने वाले बॉयलर में उत्पन्न होने वाली भाप का उपयोग समुद्री जल को गर्म करने के लिए किया जाता है। यह किफायती प्रक्रिया नहीं है क्योंकि भाप बनाना काफी महंगा पड़ता है। इसलिए, बंदरगाह पर पानी को खरीदना सस्ता पड़ता है, बजाय इसके कि इसे ऑनबोर्ड उत्पादित किया जाये. समुद्री पानी का अंतर्ग्रहण जहाज के पतवार में किया जाता है। सांद्रित लवणी विलयन (ब्राइन) को जहाज के सतरं के पास समुद्र में छोड़ दिया जाता है, साथ ही इंजन के शीतलक जल को भी छोड़ दिया जाता है।[44]

सेवा का इतिहास[संपादित करें]

क्वीन मैरी 2 2007 में सेन फ्रांसिस्को में

12 जनवरी 2004 को क्वीन मैरी 2 ने अपने साउथम्पटन, इंग्लैण्ड से संयुक्त राज्य अमेरिका में फोर्ट लोडरडेल, फ्लोरिडा तक अपनी पहली जलयात्रा की, इसमें 2620 यात्रियों ने कप्तान रोनाल्ड वारविक के नेतृत्व में यात्रा की, जिन्होंने इसे पहले क्वीन एलिज़ाबेथ 2 को कमांड किया था। वारविक विलियम (बिल) वारविक के पुत्र हैं जो एक वरिष्ठ कनार्ड अधिकारी रह चुके हैं और क्वीन एलिज़ाबेथ 2 के पहले कप्तान भी थे। जहाज अपनी पहली यात्रा से साउथेम्प्टन देर से पहुंचा क्योंकि पुर्तगाल में इसके प्रणोदक को कवर करने वाले इसके दरवाजे बंद हो गए थे।[45]

XXVIII ओलंपिक के दौरान क्वीन मैरी 2 एथेंस गया और दो सप्ताह के लिए पिरेअस में रुका रहा, यहां इसका उपयोग एक तैरने वाले होटल के रूप में किया गया, इसने संयुक्त राष्ट्र के तत्कालीन प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर और उनकी पत्नी चेरी, फ़्रांसिसी राष्ट्रपति जेक्स चिराक, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश और अमेरिकी ओलम्पिक पुरुष बास्केटबॉल टीम को अपनी सुविधाएं प्रदान कीं.[46][47] इसके शुरुआत के बाद से क्वीन मैरी 2 ' के यात्रियों में क्वीन एलिज़ाबेथ II के यात्री प्रिंस फिलिप, ड्यूक ऑफ़ एडिनबर्ग, जेज़ संगीताज्ञ देव ब्रुबेक, हास्य अभिनेता और अभिनेता जॉन क्लीस, अभिनेता रिचर्ड ड्रेफस, लेखक और संपादक हेरोल्ड इवान्स, निदेशक जॉर्ज लुकास, गायक कार्ली साइमन, गायक रोड स्टेवार्ट, सीबीएस इवनिंग न्यूज एंकर केटी कॉरिक और फाइनेंसर डोनाल्ड ट्रंप शामिल थे।[48]

2005 में एक ट्रान्साटलांटिक क्रॉसिंग के दौरान क्वीन मैरी 2 एक तालाबंद स्टीमर ट्रंक ले जा रहा था, जिसमें जे के रॉलिंग की पुस्तक हैरी पोटर और द हाफ-ब्लड प्रिंस की पहली अमेरिकी प्रतिलिपि मौजूद थी। इस पर लेखक के औटोग्राफ दिए गए थे।

इस आयोजन की एक प्रचारात्मक प्रेस विज्ञप्ति में, कनार्ड ने कहा (हालांकि इसका कोई प्रमाण नहीं है) कि ऐसा पहली बार हुआ है कि एक पुस्तक को एक महासागरीय लाइनर के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय लांच के लिए ले जाया गया हो। [49]

जनवरी 2006 में क्वीन मैरी 2 ने दक्षिणी अमेरिका की जलयात्रा शुरू की। जहाज इतना बड़ा था कि यह पनामा नहर से होकर नहीं गुजर सकता था। फोर्ट लोडरडेल से प्रस्थान करते ही इसका एक प्रणोदक पोड क्षतिग्रस्त हो गया, जब यह एक चैनल की दीवार से टकराया, जिससे जहाज की गति को मजबूरन का करना पडा, जिसके परिणामस्वरूप वारविक ने रिओ डी जेनेरियो की यात्रा पर कई कॉल्स को छोड़ने का फैसला लिया। अधिकांश यात्री मिस्ड कॉल्स की वजह से परेशान हो गए और विरोध करने लगे, इसके बाद कनार्ड ने यात्रा का किराया लौटाने की बात कही. क्वीन मैरी 2 निरंतर कम गति के साथ अपनी सेवा प्रदान अकर्ता रहा और इसकी मरम्मत किये जाने से पहले कई परिवर्तन करने अनिवार्य थे, तभी जहाज को जून में यूरोप भेजा या, जहां क्वीन मैरी 2 को ड्राई डॉक किया गया और क्षतिग्रस्त प्रोपेलर पोड को बदला गया।[50] नवंबर में क्वीन मैरी 2 को हेम्बर्ग में ब्लोहम+वोस यार्ड में एक बार और ड्राई डॉक (ड्राई डॉक एल्बे 17) किया गया और मरम्मत किये जा चुके प्रणोदक पोड को फिर से लगाया गया। इसी समय, स्प्रिंकलर प्रणाली को सभी नौकाओं की बालकोनी में लगे गया, एमएस स्टार प्रिंसेस की आग के बाद नये विनियमनों को प्रभाव में लाया गया। इसके अतिरिक्त, दृश्यता में सुधार करने के लिए पुल के दोनों पंखों को दो मीटर तक विस्तृत किया गया।[51]

क्वीन मैरी 2 पियर हेड, लीवरपूल, इंग्लैण्ड में 2009 एक दौरे के दौरान.

23 फ़रवरी 2006 को दक्षिणी अमेरिका के चरों ओर यात्रा पुरी हो जाने के बाद, क्वीन मैरी 2 अपने हमनाम, मूल साँचा:RMS से मिला, जिसे स्थायी रूप से लॉन्ग बीच, केलिफोर्निया में डॉक किया गया है। छोटे जहाजों के एक बेड़े के द्वारा अनुरक्षित, दोनों क्वीन्स ने "सीटी से एक दूसरे को सलामी" दी, जिसे लाँग बीच के पूरे शहर में सुना गया।[52] क्वीन मैरी 2 एक और कनार्ड लाइनर साँचा:MS और क्वीन एलिज़ाबेथ 2 से 13 जनवरी 2008 को न्यूयोर्क शहर में स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी से मिला, इस आतिशबाजी करके एक जश्न की तरह मनाया गया; क्वीन एलिज़ाबेथ 2 और क्वीन विक्टोरिया ने अतलांतिक पर एक दूसरे को क्रॉस किया। ऐसा पहली बार हुआ था जब तीनों कनार्ड क्वीन एक समय पर एक ही स्थान पर मौजूद थे। कनार्ड ने कहा कि ये तीनों जहाज आखिरी बार एक दूसरे से मिले हैं,[53] क्योंकि क्वीन एलिज़ाबेथ 2 ' 2008 में सेवानिवृति ले रहा है।[54] हालांकि यह प्रमाणित नहीं हुआ क्योंकि तीनों "क्वीन्स" 22 अप्रैल 2008 को साउथेम्प्टन में मिले। [55][56] क्वीन मैरी 2 21 मार्च 2009 को शनिवार को दुबई में, सेवानिवृति के बाद क्वीन एलिज़ाबेथ 2 से मिला,[57] जबकि दोनों जहाज मीना रशीद पर खड़े थे।[58] क्वीन एलिजाबेथ 2 की सेवानिवृति के बाद क्वीन मैरी 2 एकमात्र महासागरीय लाइनर है, जो सक्रिय यात्री सेवाएं उपलब्ध करा रहा है।

10 जनवरी 2007 को क्वीन मैरी 2 ने अपनी पहली विश्व यात्रा शुरू की, यह 81 दिन तक पुरी दुनिया में घूमा. 20 फ़रवरी को वह अपने बाड़े के जहाज, क्वीन एलिज़ाबेथ 2 से मिला, साथ ही 2007 में अपनी सिडनी बंदरगाह पर भी विश्व यात्रा के दौरान इससे मिला। [59] 1941 के बाद से क्वीन मैरी और[60]क्वीन एलिज़ाबेथ के लिए यह पहला मौका था जब दो कनार्ड क्वीन सिडनी में एक साथ खड़े थे। क्वीन मैरी 2 ' का बंदरगाह पर पहुंचने का समय सुबह 5 बजकर 42 मिनट का था। इतना जल्दी का समय होने के बावजूद इतने ज्यादा दर्शक इसके प्रति आकर्षित थे कि सिडनी बंदरगाह का पुल और एन्ज़ेक पुल दोनों ब्लॉक हो गए।[61] 1600 यात्री सिडनी में जहाज से उतरे, कनार्ड ने अनुमान लगाया कि इसने स्थानीय अर्थव्यवस्था में 3 मिलियन डॉलर से ज्यादा का योगदान दिया। [62]

क्वीन मैरी 2 सिडनी में, 20 फ़रवरी 2007.

जुलाई 2007 में नेशनल ज्योग्रफिक चैनल ने क्वीन मैरी 2 की विशाल सरंचना के बारे में एक वृत्तचित्र का प्रसारण किया।[63] अक्टूबर 2009 में, क्वीन मैरी 2 ने अपनी सेवा का पांचवा साल पूरा किया, इसमें ब्रिटिश द्वीपों की 8 रातों की यात्रा भी शामिल थी। इस यात्रा में ग्रीनोक[64] और लिवरपूल[65] की पहली यात्रायें भी शामिल थीं।

बोस्टन कप[संपादित करें]

बोस्टन कप को क्वीन मैरी 2 पर विदेश ले जाया गया। कभी कभी इसे ब्रिटानिया कप भी कहा जाता है, इसका निर्माण बोस्टन में सर सेम्युल कनार्ड के लिए उनकी पहली नौका के आगमन की याद में किया गया थासाँचा:RMS.[66] कनार्ड ने बोस्टन को अपनी अटलांटिक सेवा के लिए अमेरिकी बंदरगाह के रूप में चुना, इसके परिणामस्वरूप बोस्टन और कनार्ड लाइन के बीच एक प्रबल संबंध स्थापित हो गया।[67] ऐसा माना जाता है कि यह कप 1840 में सर सेम्युल कनार्ड को दिया गया था; हालांकि इसके ज्यादातर जीवन के लिए यह मौजूद नहीं था। इसे 1967 में एक पुराने सामान की दुकान में पाया गया, इसे कनार्ड को लौटा दिया गया, इसे क्वीन एलिजाबेथ 2 पर रखा गया। 2004 में, जब QM2 प्रमुख जहाज बन गया, बोस्टन कप को क्वीन मैरी 2 पर रखा गया, यह कनार्ड के मुख्य जहाजों का प्रतीक था।[66] इसे चार्ट रूम लौंज के कांच के एक केस में रखा गया है।[68]

प्रणोदन में असफलताओं का दोहराया जाना[संपादित करें]

रोल्स रॉयस मरमेड प्रणोदक पोड को क्वीन मैरी 2 में लगाया गया था, इसमें कई बार समस्या आयी। ये समस्या बार बार आयीं, ये इतनी ज्यादा थीं कि कार्निवाल कोर्प.(संयुक्त राज्य अमेरिका), ने अपनी कनार्ड लाइन डिविजन से रोल्स- रॉयस कोर्प को हटा लिया।

जनवरी 2009 में यह मामला संयुक्त राज्य अमेरिका की अदालत में पहुंचा। पहले यह दावा किया गया कि कनार्ड लाइन में लगे गया मरमेड पोड प्रणोदक प्रणाली जो मुख्यतया क्वीन मैरी 2 में लगाया गया है, उसके डिजाइन में मूल दोष है। कनार्ड ने तर्क दिया कि रोल्स रॉयस डिजाइन की कमियों के बारे में जानते थे और इसे जानबूझकर लगाया गया है, यह अनुबंध में एक धोखा, साजिश है। डिजाइन की एकीलेस हील मोटर में प्रणोद उत्पन्न करती है, जिसे बार बार ठीक करने के बाद भी यह खराब हो जाती है।[69] जनवरी 2011 में कार्निवाल कोर्पोरेशन को 24 मिलियन अमेरिकी डॉलर का पुरस्कार दिया गया। (लगभग 15 £ मिलियन ब्रिटिश मुद्रा फैसले के समय पर) यह पुरस्कार अमेरिकी अदालत के द्वारा दिया गया क्योंकि प्रणोदक बारबार विफल हो रहा था।[70]

कनार्ड रॉयल मिलन स्थल[संपादित करें]

जनवरी 2011: पहले कनार्ड रॉयल मिलन के दो साल बाद उसी तारीख को क्वीन मैरी 2 13 जनवरी 2011 को न्युयोर्क शहर में एक अन्य रॉयल मिलन के लिए साँचा:MS और नए ब्रांड साँचा:MS से मिला। साँचा:MS और एमएस क्वीन एलिजाबेथ दोनों ने अटलांटिक में एक दूसरे को क्रॉस किया। तीनों जहाज शाम 6 बजकर 45 मिनट पर स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी के सामने मिले, इस समय आतिशबाजी से इनका स्वागत किया गया। एम्पायर स्टेट बिल्डिंग लाल रंग में नहा सी गयी।[71]

5 जून 2012: एक बार फिर से तीनों क्वीन्स साउथेम्प्टन में मिलेंगी और एलिज़ाबेथ II डायमंड जुबली का जश्न मनाया जाएगा.[72]

पर्यावरण प्रदर्शन[संपादित करें]

इन्हें भी देखें: Cruise ship pollution

क्वीन मैरी 2 को डिजाइन करते समय, डिजाइनरों का लक्ष्य था जहाज का पर्यावरण पर कम से कम प्रभाव पड़े, इसकी ईंधन दक्षता उत्तम हो, व्यर्थ का प्रबंधन बेहतर किया जा सके, न केवल इंधन की लगत कम हो बल्कि इसके सेवाएं भी उत्तम हों, क्योंकि यह पूर्वानुमान लगाया गया था कि जहाज जब सेवारत होगा तब पर्यावरणी विनियमन लागु किये जायेंगे.

प्रारंभिक लक्ष्यों में शामिल थे, अवशिष्ट जल का उपयोग गैर पेय उद्देश्य के लिए कर लिया जाये, ठोस व्यर्थ का समुद्र में निर्वहन बिलकुल न किया जाये. आर्थिक और अन्य कारणों से और ऊर्जा के उपभोग को कम करने के लिए इनमें से कुछ कारकों को लागु नहीं किया जायेगा. हालांकि, क्वीन मैरी 2 'का पर्यावरण प्रदर्शन कई पुराने जहाजों से बेहतर था, व्यर्थ के मामले में इसके अंतर्राष्ट्रीय मानक भी उत्तम थे, जैसा कि नीचे बताया गया है।[24][43]

कनार्ड के अनुसार, जहाज अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन के MARPOL) (जहाजों से होने वाले प्रदुषण की रोकथाम) के लिए अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, अगर किसी तट से 12 nmi (14 mi) से अधिक दूरी पर समुद्र में व्यर्थ का निर्वहन नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि MARPOL उपचारित कार्बनिक व्यर्थ और उपचारित अपशिष्ट को तट के पास निर्वहन करने की अनुमति देता है। संभावित हानिकारक पदार्थ का निर्वहन, विशेष रूप से अवशिष्ट तेल, उपचारित जल, हवा उत्सर्जन, पर नियंत्रण रखा जाना चाहिए ताकि पर्यावरण के मानकों का अनुपालन किया जा सके। [43] जिन क्षेत्रों में सल्फर डाई ऑक्साइड के कारण प्रदूषण होता है, वह अम्लीय वर्षा का कारण बनता है, यह चिंता का विषय है, वायु प्रदुषण को कम करने के लिए जहाज में कम सल्फर युक्त ईंधन का उपयोग किया जाना चाहिए। [43]

कार्बन ऑफसेट कम्पनी जलवायु रक्षा के अनुसार, प्रति यात्री प्रति जहाज प्रति मील वायुमंडल में एक लम्बे उड़ान की तुलना में अधिक कार्बन डाई ऑक्साइड मुक्त होती है। हालांकि, कनार्ड ने क्वीन मैरी 2 के कार्बन फुट प्रिंट को कम करने का प्रयास किया, जिससे इंजन दक्षता में सुधार हुआ और जहाज में गति के दौरान घर्षण में कमी आई. नवंबर 2008 में, जहाज को हैम्बर्ग में रखा गया, इसका एक हिस्से में हल में पेंट किया गया, ऐसा खिंचाव को कम करने के लिए किया गया जिससे इंधन दक्षता में सुधार हुआ।[43][73][74]

लोकप्रिय संस्कृति में[संपादित करें]

इसकी प्रसिद्धि की वजह से, क्वीन मैरी 2 के डिजाइन ने कई फिल्मों में यात्री जहाजों के डिजाइन को प्रेरित किया है। फिल्म ए. आई. आर्टिफिशल इंटेलिजेंस में क्वीन मैरी 2 से काफी मिलता जुलता जहाज एक बर्फ के युग में न्यूयोर्क शहर में दो गगनचुम्बी इमारतों के बीच दिखाया जाता है। क्वीन मैरी 2 ने पोसेइदोन, 10.5: Apocalypse, और 2012 जैसे फिल्मों में सुनामी का सामना कर रहे यात्री जहाजों को भी प्रेरित किया है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Queen Mary 2". cruise-community.com. Seatrade Communications Limited. Archived from the original on 2006-03-23. Retrieved 2008-03-06. 
  2. Cunard Production Services (2009). "Queen Mary 2: G32 nightclub". Retrieved 2009-11-23. 
  3. http://book.cunard.com/find/pb/cruiseDetailsShip.do?ship=&subTrade=&date=0711&duration=1&orderBy=&pageOffset=&filterBy=&voyageCode=M113&noOfPax=2
  4. http://www.lr.org/sectors/marine/Yourship/CSS.aspx
  5. "Queen Mary 2 Ship Facts". Cunard. Retrieved 2009-07-16. 
  6. "Queen Mary 2: A ship of superlatives" (PDF). Cunard Line. Archived from the original (PDF) on 2007-09-27. 
  7. "Queen Mary 2". Maritime Matters. [मृत कड़ियाँ]
  8. क्वीन मैरी 2 की यात्रायें कनार्ड 12 दिसम्बर 2009 को पुनः प्राप्त[मृत कड़ियाँ]
  9. "The History, Construction and Design of Queen Mary 2". Sealetter Travel Inc. 
  10. Cunard (2009-10-23). "Queen Mary 2 Becomes Largest Ship Ever to Visit the Clyde". Cruise Web Blog. Retrieved 2009-11-23. 
  11. "Royal Mail employee's Courier newspaper". Royal Mail. August 2007. 
  12. "Queen Mary 2 Technical" (PDF). Cunard. Archived from the original (PDF) on 2010-01-06. Retrieved 2009-11-07. 
  13. "Queen Mary 2". The Great Ocean Liners. Retrieved 2009-11-07. 
  14. "Construction of the Largest Liner in the World, Part One, July 4, 2002 ~ March 16, 2003". World Ship Society. Archived from the original on April 19, 2008. Retrieved 2009-07-16. 
  15. Plisson, Philip (2004). Queen Mary 2: The Birth of a Legend. Harry N. Abrams, Inc. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0810956136. 
  16. "Toll climbs in Queen Mary 2 shipyard accident". CTV News. 2003-11-16. 
  17. "Queen launches Queen Mary 2". BBC. 2004-01-08. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/hampshire/dorset/3375225.stm. [मृत कड़ियाँ]
  18. डेविडसन, कार्ला. "लांग लाइव द क्वीन्स, अमेरिकी विरासत, अगस्त, सितंबर 2005.
  19. "Cunard press pack:Future Engineers 2008". Cunard. October 2008. Retrieved 2009-11-23. 
  20. Maxtone-Graham, John (2004). Queen May 2:The Greatest Ocean Liner of our Time. Bulfinch Press. प॰ 22. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-8212-2885-4. 
  21. "Queen Mary 2 of Cunard Line". www.cruiseweb.com. Retrieved 2009-11-23. 
  22. Arturo Paniagua Mazorra (September 14, 2004). "Queen Mary 2". Retrieved 2009-11-23. 
  23. Maxtone-Graham, John (2004). Queen May 2:The Greatest Ocean Liner of our Time. Bulfinch Press. प॰ 21. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-8212-2885-4. 
  24. "क्वीन मैरी 2: बड़े महासागरीय लाइनर की परम्परा को जीवित रखने के लिए निर्मित" पेशेवर मेरिनर (2003) 11 दिसम्बर 2009 को पुनः प्राप्त.
  25. Barron, James (18 अप्रैल 2004). "This Ship Is So Big, The Verrazano Cringes". दि न्यू यॉर्क टाइम्स (New York). http://query.nytimes.com/gst/fullpage.html?res=9407E7DC103BF93BA25757C0A9629C8B63&sec=&spon=&partner=permalink&exprod=permalink+ 
  26. Alistair Greener (जनवरी 22, 2009). "Transiting the panama canal-- From East to West or West to East?". Cunard (blog). Retrieved 2009-11-23.  Check date values in: |date= (help)
  27. QM2 डेक योजनायें कनार्ड 27 नवम्बर 2006 को पुनःप्राप्त.
  28. रॉयल मेल शिप क्वीन मैरी 2 का परिचय" ज्सोल्ट क्सिस्ज़र, 22 नवम्बर 2009 को पुनः प्राप्त.
  29. QM2 टोड इंग्लिश कनार्ड "क्वीन मैरी 2 में केवल शिप्बोर्ड रेस्तरां हैं, जो सेलेब्रिटी शेफ टोड इंग्लिश के द्वारा चलाये जाते हैं" 12 दिसम्बर को पुनः प्राप्त.
  30. Burbank, Richard D. (2005). "The Queen Mary 2 Library". Libraries & Culture 40 (4): 547–561. doi:10.1353/lac.2005.0064. http://muse.jhu.edu/login?uri=/journals/libraries_and_culture/v040/40.4burbank.html. 
  31. "Cunard unleashes new amenities for pampered pets". Cunard. फ़रवरी 15, 2006. Retrieved 2009-11-23.  Check date values in: |date= (help)
  32. Mary 2&main=din&sub=#Kings Cunard Line: Queen Mary 2: King's Court
  33. मजोर्रा, आर्थूरो पनिअगुआ; सीलेटर क्रूज़ मैगजीन, क्वीन मैरी 2 का इतिहास, विनिर्माण और डिजाइन .
  34. कनार्ड: QM2 तथ्य पत्रक
  35. गेनोर, लौइसा फ्रे; यु एस ए टुडे, क्वीन मैरी 2 अटलांटिक पर शासन करती है; 16 अगस्त 2005
  36. लिवरपूल डेली पोस्ट " क्वीन मैरी 2 लिवरपूल विसित: जहाज जो अपने यात्रियों के लिए "ट्रिप ऑफ़ अ लाइफटाइम" पेश करता है"" 21 अक्टूबर 2009
  37. "Queen Victoria Public Rooms" (PDF). Cunard. Archived from the original (PDF) on 2009-07-30. Retrieved 2009-11-26. 
  38. लक्जरी जलयात्रा की कला
  39. "Queen Mary 2". Onderneming & Kunst. Retrieved 2009-11-26. 
  40. "Finnjet historical society Homepage". Retrieved 20 नवम्बर 2009.  Check date values in: |access-date= (help)
  41. Karonen, Petri (1992) (Finnish में). Enso-Gutzeit Oy laivanvarustajana: Oy Finnlines Ltd ja Merivienti Oy 1947-1982. Imatra: Enso-Gutzeit. पृ. 106–109. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 952-9690-00-2. 
  42. Queen Mary 2: The Genesis of a Queen. Alstom Chantiers de l'Atlantique, A Publication of the Naval Architect. 2004. पृ. 50–55.. 
  43. कनार्ड. RMS क्वीन मैरी 2 तकनीकी विनिर्देशन. QM2 के यात्रियों के लिए उपलब्ध फ्लायर.
  44. "UBIFRANCE Orelis' technology to recycle Queen Mary 2's waste water". 16 अप्रैल 2004. Retrieved 26 नवम्बर 2009.  Check date values in: |access-date=, |date= (help)
  45. Elaine Barker (23 जनवरी 2006). "Passengers threaten mutiny on crippled 'Queen Mary 2'". The Independent. http://www.independent.co.uk/news/uk/this-britain/passengers-threaten-mutiny-on-crippled-queen-mary-2-524177.html. अभिगमन तिथि: 2009-11-26. 
  46. क्वीन मैरी 2 तैरता हुआ एक किला होगा
  47. Dream Team beats Spain but tension builds[मृत कड़ियाँ] (28 06 जून को निष्क्रिय लिंक)
  48. "Famous Faces". Cunard. Retrieved 2009-11-26. 
  49. "World's most famous ocean liner carries first J.K. Rowling-signed US copy of Harry Potter and the Half Blood Prince". 7 नवम्बर 2005. Retrieved 2009-11-26.  Check date values in: |date= (help)
  50. Andrew Downe; Amy Iggulden (28 Jan 2006). "Cunard foils QM2 mutiny with full refund offer". The Telegraph. Retrieved 2009-11-26. 
  51. "Blohmvoss Repair Schedule-2006" (PDF). Blohmvoss. 
  52. "Queen Mary 2 Meets Namesake Queen Mary on February 22 Marking a Cunard Milestone". The Cruise Line Ltd. 12 जनवरी 2006. Retrieved 2009-11-26.  Check date values in: |date= (help)[मृत कड़ियाँ]
  53. Cunard.com वेबसाईट मुलाकात के विषय में
  54. "QE2 to leave Cunard fleet and be sold to Dubai World to begin a new life at the palm". Cunard Line. 2007. Retrieved 2007-06-20. 
  55. Eleanor Williams (22 अप्रैल 2008). "Royal gathering of sea 'Queens'". बीबीसी न्यूज़. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/hampshire/7361808.stm. अभिगमन तिथि: 2009-11-27. 
  56. "Three 'Queens' in final meeting". बीबीसी न्यूज़. 22 अप्रैल 2008. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/hampshire/7360081.stm. अभिगमन तिथि: 2009-11-27. 
  57. QE2 सेवानिवृत्ति
  58. QE2, QM2 दुबई में
  59. "Queen Mary 2 & QE2 Meet in Sydney Harbour". Sydney Online Pty Ltd. फ़रवरी 2007. Retrieved 2009-11-26.  Check date values in: |date= (help)
  60. "Queen Elizabeth 1940-1973". The Great Ocean Liners. Retrieved 2009-11-26. [मृत कड़ियाँ]
  61. David Braithwaite; Andrew Clennell; Deborah Snow (फ़रवरी 21, 2007). "Sydney in meltdown as hordes crowd to see giant ships". Sydney Morning Herald. Retrieved 2009-11-26.  Check date values in: |date= (help)
  62. Super ships choke city सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड 11 दिसम्बर 2009 को पुनः प्राप्त.
  63. मेगास्ट्रक्चर्स : प्रकरणों की सूची[मृत कड़ियाँ] नेशनल ज्योग्राफिक चैनल ब्रिटेन 12 दिसमबर 2009 को पुनः प्राप्त
  64. "Huge cruise liner visiting city (Greenock)". बीबीसी न्यूज़. 19 अक्टूबर 2009. http://news.bbc.co.uk/1/hi/scotland/glasgow_and_west/8314297.stm. अभिगमन तिथि: 2009-11-24. 
  65. "Town welcomes huge cruise liner (Liverpool)". बीबीसी न्यूज़. 20 अक्टूबर 2009. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/merseyside/8315670.stm. अभिगमन तिथि: 2009-11-24. 
  66. "The Boston Cup". Chris' Cunard Page. Retrieved 2010-02-16. 
  67. Maxtone-Graham, John (2004). Queen May 2:The Greatest Ocean Liner of our Time. Bulfinch Press. पृ. 46–49. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-8212-2885-4. 
  68. कनार्ड ने विशेष सालगिरह मनाई
  69. "Specifications:Carnival Sues Rolls-Royce Over Queen Mary...". 2009-01-16. Retrieved 2011-01-19. 
  70. "The Tale of the Mermaid Pods". 2009-01-08. Retrieved 2011-01-19. 
  71. http://www.cunard.com/rendezvous
  72. http://www.cruiseindustrynews.com/cruise-news/5207-3711-cunard-line-announces-2012-2013-deployment.html
  73. Alistair Greener (12 नवम्बर 2008). "Queen Mary dry dock report". Cunard (blog). Retrieved 2009-11-24.  Check date values in: |date= (help)
  74. "Is cruising any greener than flying?". द गार्डियन. 20 दिसम्बर 2006. Retrieved 2009-11-24.  Check date values in: |date= (help)

बाहरी कडियां[संपादित करें]

साँचा:Largest passenger ships साँचा:Cunard ships