आपेक्षिक आर्द्रता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
संघनन

किसी निश्चित तापक्रम पर निश्चित आयतन वाली हवा की आर्द्रता-सामर्थ्य (अत्यधिक नमी धारण करनें की छमता) तथा उसमें मौजूद आर्द्रता की वास्तविक मात्रा (निरपेक्ष आर्द्रता) के अनुपात को सापेक्ष आर्द्रता (relative humidity) कहतें हैं।

परिभाषा[संपादित करें]

वायु के एक निश्चित आयतन में किसी ताप पर जितना जलवाष्प विद्यमान होता है और उतनी ही वायु को उसी ताप पर संतृप्त करने के लिए जितने जलवाष्प की आवश्यकता होती है, इन दोनों राशियों के अनुपात को आपेक्षिक आर्द्रता (Relative humidity या RH) कहते है: अर्थात्‌ T ताप पर आपेक्षिक आर्द्रता एक घन सें.मी. वायु में T सेंटीग्रेड पर प्रस्तुत जलवाष्प¸ एक घन सेंटीमीटर वायु में T सेंटीग्रेड पर संतृप्त जल वाष्प। बाऍल के अनुसार यदि आयतन स्थायी हो तो किसी गैस की मात्रा उसी के दाब की अनुपाती होती है। अत:

आपेक्षिक आर्द्रता = प्रस्तुत जलवाष्प का दाब / उसी ताप पर जलवाष्प का संतृप्त दाब

 \phi  =  {{e_w} \over {{e^*}_w}} \times 100%

जलवाष्प की दाब, ओसांक ज्ञात करने पर, रेनो की सारणी से निकाला जाता है।

विशिष्ट आर्द्रता[संपादित करें]

विशिष्ट आर्द्रता (Specific humidity) की परिभाषा इस प्रकार है-

 SH = {m_v \over m_a}. .[1]

जहाँ,

 m_v जल-वाष्प का द्रव्यमान,
 m_a )= वायु-पार्सल का कुल द्रव्यमान

विशिष्ट आर्द्रता को निम्नलिखित प्रकार से भी अभिव्यक्त किया जा सकता है-

 SH = {0.622 \times {p_{(H_2O)}} \over {p_{(dry\, air)}}}, या
 0.622 = {{MM_{H_2O}} \over {MM_{dry\, air}}}

या:

 SH = {{0.622 \times p_{(H_2O)}}\over {p-0.378 \times p_{(H_2O)}}}.

विशिष्ट आर्द्रता की परिभाषा का उपयोग करते हुए, आपेक्षिक आर्द्रता को निम्नलिखित प्रकार से पारिभाषित किया जा सकता है-

 \phi = {{SH \times p}\over {(0.622+0.378 \times SH) p^*_{(H_2O)}}}\times 100

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • Wallace, John and Hobbs, Peter, Atmospheric Science: An Introductory Survey, 2006, 2nd edition, Elsevier, pp. 80