आघूर्ण परिमाण मापक्रम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आघूर्ण परिमाण मापक्रम (Moment magnitude scale) भूकम्पज्ञों द्वारा उपयोग में लाया जाने वाला मापक्रम (स्केल) है जो किसी भूकंप की तीव्रता को नापने के लिए प्रयुक्त किया जाता है। इसमें भूकंप को उसके द्वारा छोड़ी गई ऊर्जा के संबंध में मापा जाता है।

इसका विकास थॉमस सी हैंक्स और हिरो कानामोरी द्वारा सत्तर के दशक के अंत में रिक्टर परिमाप के अद्यतन स्वरूप किया गया था जो की तीस के दशक में भूकम्पों को मापने के लिए विकसित किया गया था।

रिक्टर पैमाने ही समान यह भी लघुगणकीय परिमाप है, अर्थात प्रति एक इकाई की वृद्धि वाला भूकम्प पिछली इकाई के भूकम्प से √१००० या ३१.६ गुणा अधिक शक्तिशाली होता है: उदाहरणार्थ, ५ की तीव्रता वाला भूकम्प ४ की तीव्रता वाले भूकम्प से तीस गुणा अधिक शक्तिशाली होगा और ६ की तीव्रता वाला ४ वाले से लगभग १००० (३१.६x३१.६) गुणा अधिक शक्ति शाली होगा और ७ की तीव्रता वाला भूकम्प तो ४ वाले से ३१,५५५ (३१.६x३१.६x३१.६) गुणा अधिक शक्तिशाली होगा।

आघूर्ण परिमाण मापक्रम एक विमाहीन संख्या है। गणितकीय रूप से इसकी परिभाषा यह है-

M0 भूकम्पीय गतिविधि है।

आघूर्ण परिमाण मापक्रम को Mw से दर्शाया जाता है।

यहाँ भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]