आग्या

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
आग्या की एक किस्म

वैज्ञानिक भाषा में ओरोबंकी (Orobanche या Broomrape) या हिन्दी में आग्या के नाम से जाना जाने वाला यह परजीवी किस्म का पौधा है जो कि सरसों के अलावा टमाटरजीरे की फसल को भी चौपट कर जाता है। इस जाति (जीनस) में 200 से अधिक परजीवी शाकभक्षी (parasitic herbaceous) पौधे आते हैं जो समशीतोष्ण उत्तरी गोलार्ध के मूल पौधे हैं।

आम-भाषा में 'देवकालूंकी मुला"' कहा जाने वाला यह पौधा खेत में उग जाने से उसकी फसल बर्बाद हो जाती है।

पौधे की जड़ के पास मरगोजे का पौधा पनपता है जो धीरे-धीरे सरसों के पौधे का रस पीना शुरू कर देता है और सरसों का पौधा सूखना शुरू हो जाता है। इस बीमारी के कारण पौधे को सही मात्रा में भोजन नहीं मिल पाता है और सरसों के पौधों की पत्तियां पीली होनी शुरू हो जाती है और सरसों की फसल सूखी नजर आती है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]