अल्फ़ा सॅफ़ॅई तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अल्फ़ा सॅफ़ॅई वृषपर्वा (सिफ़ियस) तारामंडल में 'α' के चिह्न द्वारा नामांकित तारा है

अल्फ़ा सॅफ़ॅई, जिसका बायर नाम भी यही (α Cephei या α Cep) है, वृषपर्वा तारामंडल में स्थित एक तारा है जो पृथ्वी से दिखने वाले सबसे रोशन तारों में से एक है। यह हमसे क़रीब ४९ प्रकाश-वर्ष की दूरी पर स्थित है और पृथ्वी से इसका औसत सापेक्ष कांतिमान (यानि चमक का मैग्निट्यूड) लगभग +२.५ है।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में अल्फ़ा सॅफ़ॅई को "ऐल्डरेमिन" (Alderamin) भी कहा जाता हैं। यह अरबी के "अल​-दिरा अल-यमीन" (الذراع اليمين‎) से लिया गया है, जिसका अर्थ "दाहिना बाज़ू" होता है।

तारे का ब्यौरा[संपादित करें]

अल्फ़ा सॅफ़ॅई एक सफ़ेद रंग का A7 IV या A7 V श्रेणी का मुख्य अनुक्रम तारा है, जो धीरे-धीरे फूलकर उपदानव तारा बन रहा है। समय के साथ यह शायद एक लाल दानव तारा बन जाएगा। इसका द्रव्यमान (मास) सूरज के द्रव्यमान का १.९ गुना और व्यास (डायामीटर) सूरज के व्यास का २.५ गुना है। इसकी चमक हमारे सूरज की चामक की १८ गुना है और इसका सतही तापमान लगभग ७,६०० कैल्विन है। यह बहुत ही तेज़ी से घूर्णन (रोटेशन) कर रहा एक और एक पूरा घुमाव १२ घंटों में पूरा कर लेता है। तुलना के लिए हमारे सूरज को एक घुमाव पूरा करने में लगभग एक महीना लग जाता है।

पृथ्वी से दर्शन[संपादित करें]

अल्फ़ा सॅफ़ॅई एक परिध्रुवी तारा है जो पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध (हॅमिस्फ़ीयर) से नज़र आता है। समय के साथ यह तारा हमारे उत्तरी ध्रुव के ऊपर नज़र आना शुरू होगा और सन् ७५०० ईसवी के आसपास हमारा उत्तरी ध्रुव तारा बन जाएगा।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]