अलादीन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अलादीन जादुई बगीचे में, मैक्स लाय्बर्ट द्वारा चित्रित [1]

अलादीन एक मध्य पूर्वी परी कथा है। यह द बुक ऑफ़ वन थौज़ंड एंड वन नाईट (द अरेबियन नाइट्स) की कई कथाओं में से एक है व सबसे अधिक विख्यात है हालाँकि इसे संग्रह में १८वी शताब्दी में अंटोनी गलांड नामक एक फ़्रांसीसी ने समाविष्ट किया था।

कहानी की समीक्षा[संपादित करें]

जादूगर अलादीन को जादुई गुफा में बंद कर देता है

अलादीन बगदाद शहर में रहने वाला एक आम गरीब लड़का था । एक दिन मगरेब से आया एक जादूगर स्वयं को उसके गुजरे हुए पिता मुस्तफ़ा दर्ज़ी का भाई बता कर अपना साथ नियुक्त कर लेता है जिस कारण उसकी माँ को यह प्रतीत होता है की वह आगे चलकर एक बहुत अमीर व्यापारी बनेगा। परन्तु जादूगर का असली मकसद अलादीन को बहला-फुसलाकर उससे जादुई चिराग हासिल करना है जो एक जादुई गुफा में मौजूद है। जादूगर अलादीन को धोका देने की कोशिश करता है जिससे अलादीन गुफा में फंस जाता है। अच्छी किस्मत के चलते उसके पास उस समय एक जादुई अंगूठी होती है जो उसे जादूगर ने सुरक्षा क लिए दी थी। जब हताश होकर अलादीन अपने हाथ घिसता है तब अंजाने में उससे अंगूठी भी घिस जाती है और एक जिन्न प्रकट होता है जो उसे अपनी माँ के पास घर पहुंचा देता है। जब अलादीन की माँ बेटे ने लाया हुआ चिराग साफ करने की कोशिश करती है तब एक दूसरा शक्तिशाली जिन्न प्रकट होता है जो उस चिराग के मालिक का गुलाम होता है।

चिराग से निकले जिन्न की सहायता से अलादीन बेहद आमिर व शक्तिशाली बन जाता है और राजकुमारी बद्र-उल-बुदूर से निकाह कर लेता है। हिंदी में बद्र-उल-बुदूर का अर्थ है, पूनम की चाँदों की पूनम.

जिन्न अलादीन के लिए एक महल का निर्माण करता है जो शहंशाह के महल से भी कई गुना ज़्यादा भव्य होता है।

एक दिन जादूगर पुराने चिरागों के बदले नए चिराग देने के बहाने अलादीन की बीवी (जिसे जादुई चिराग के बारे में कुछ नहीं पता) से जादुई चिराग हासिल कर लेता है। वह जिन को हुक्म देता है कि महल को उसके सरे साजो सामन सहत अपने घर मगरेब पहुंचा दे। किस्मत से अलादीन के पास तब भी जादुई अंगूठी होती है जिससे वह छोटे जिन्न को बुला लेता है। हालाँकि छोटा जिन्न चिराग के जिन्न द्वारा किया गया जादू उलट नहीं सकता पर वह अलादीन को मगरेब पहुंचा देता है जहाँ अलादीन लड़ाई में जादूगर को मार कर चिराग को पुनः हासिल कर लेता है व महल और राजकुमारी को पुनः अपनी जगह ले आता है।

जादूगर का शक्तिशाली छोटा भाई अलादीन को मार कर अपने भाई का बदला लेने की कोशिश करता है और एक बूढी औरत का वेश धर लेता है जो अपनी रहस्यमई जादुई शक्तियों के लिए विख्यात है। बद्र-उल-बुदूर उसके इस झांसे में फंस जाती है अय्यार बुढिया को महल में रहने की अनुमति दे देती है। चिराग का जिन्न अलादीन को इस बारे में आगाह कर देता है और अलादीन बहरूपिये को मार देता है। सभी लोग आगे चलकर एक खुशहाल ज़िन्दगी जीते है और भविष्य में अलादीन शहंशाह बन जाता है।

रूपांतरण[संपादित करें]

सभी रूपांतरण असली कहानी से कहीं न कहीं मेल खाते है. चीनी घटनाओं को अधिकांश समय अरेबियाई पृष्ठभूमि में बदल दिया जाता है

पुस्तकें[संपादित करें]

  • १९६२ में द वॉल्ट डिज़्नी कंपनी की इतालवी शाखा ने पेपरिनो इ ला ग्रोता ड़ी अलादिनो (डोनाल्ड और अलादीन की गुफा) नामक एक कहानी प्रकाशित की जिसे ओसवाल्डो पविसी ने लिखा और पियर लोरेंज़ो दी वीटा ने चित्रित किया था.

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. अलादीन Archived 24 सितंबर 2009 at the वेबैक मशीन. प्रोजेक्ट गुटेनबर्ग में

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]