अलफांजो लेग्रोस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अलफांजो लेग्रोस का चित्र
कालवेरी
क्युपिड और साइक

अलफांजो लेग्रोस (Alphonse Legros ; 8 मई 1837 – 8 दिसम्बर 1911) फ्रांस का चित्रकार एवं मूर्तिकार था।

इसके चित्रों का प्रथम प्रदर्शन १८५७ में हुआ लेकिन इसे प्रोत्साहन नहीं मिला। परिणामस्वरूप वह लन्दन चला आया। १८७० में युनिवर्सिटी कालेज में प्राध्यापक बना और १७ वर्ष तक रहा। इसके अधिकांश चित्रों का विषय फ्रांसीसी ग्राम्य जीवन है। इसकी कतिपय प्रसिद्ध रचनाएँ हैं - तीर्थयात्री, समुद्र का आशीर्वाद, बपतिस्मा, मृत ईसा तथा उपासिका।