अर्थशोधन निवारण अधिनियम, २००२

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अर्थशोधन निवारण अधिनियम, २००२
The Prevention of Money Laundering Act, 2002
An Act to prevent money-laundering and to provide for confiscation of property derived from, or involved in, money-laundering and for matters connected therewith or incidental thereto.
शीर्षक Act No.15 of 2003
द्वारा अधिनियमित Parliament of India
अधिनियमित करने की तिथि 17 January 2003
अनुमति-तिथि 17 January 2003
शुरूआत-तिथि 1 July 2005
संशोधन
The Prevention of Money Laundering (Amendment) Act, 2005, The Prevention of Money Laundering (Amendment) Act, 2009
Status: प्रचलित

अर्थशोधन निवारण अधिनियम, २००२ (Prevention of Money Laundering Act, 2002) भारत के संसद द्वारा पारित एक अधिनियम है जिसका उद्देश्य काले धन को सफेद करने से रोकना है। इसमें अर्थशोधन से प्राप्त धन को राजसात करने का प्राविधान है।[1][2] यह अधिनियम 1 जुलाई, 2005 से प्रभावी हुआ।

इस अधिनियम को वर्ष 2005, 2009 और 2012 में संशोधित किया गया।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]