अमानी सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अमानी सिंह भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 के सेनानी थे। ये वर्तमान उत्तरप्रदेश के गहलऊ गाँव, इगलास (अलीगढ़) के निवासी थे। इनके पास एक घोड़ी थी जिसकी वीरता की कहानियाँ आज भी इस क्षेत्र में जिसे लगसमा कहा जाता है, बड़े चाव से सुनी जाती हैं। खैर से इगलास जाने वाली सड़क पर गहलऊ गाँव में आज भी अमानी सिंह की मूर्ति है जिसमें उन्हें घोड़ी पर सवार दिखाया गया है। इनकी घोड़ी के बारे में कहा जाता है: अमानी माने तो माने, अमानी की घोड़ी न माने।

इतिहास[संपादित करें]